निर्माण कार्य पूरा:अवैध काॅलाेनी विकसित करने में जालंधर दूसरे, होशियापुर पहले नंबर पर

जालंधर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जालंधर और कपूरथला में अवैध काॅलाेनी का निर्माण कार्य पूरा

अवैध काॅलाेनी विकसित करने के मामले में हाेशियारपुर नंबर-वन हैं, ताे जालंधर भी दूसरे नंबर पर हैं। गंभीर बात है कि प्राइवेट बिल्डर पहले काॅलाेनी काे विकसित करने का काम शुरू करते है। इसके बाद पुडा में काॅलाेनी काे रेगुलर करने के लिए कम्पांडिंग के लिए आवेदन करते है। पुडा के पास जनवरी तक हाेशियारपुर से 2013 की पाॅलिसी के हिसाब से कम्पाउंडिंग के लिए 283 एप्लीकेशन आए।

वहीं, जालंधर में 259 काॅलाेनी रेगुलर करने के लिए एप्लीकेशन प्राप्त हुए। बता दें कि जालंधर, होशियारपुर और कपूरथला में अवैध कालाेनी विकसित करने का काम खूब फलफूल रहा है। जिले में प्राइवेट बिल्डर पहले बिना मंजूरी के काॅलाेनी विकसित करते हैं। यहां तक काॅलाेनी में सीवर लाइन और कच्ची सड़काें के निर्माण के बाद प्लाटिंग शुरू कर दी जाती है। ऐसे में काेई शिकायत करता हैं ताे पुडा में पाॅलिसी के हिसाब से रेगुलर के लिए कम्पाउंडिंग की एप्लीकेशन लगाई जाती है। पुडा में जनवरी तक होशियारपुर में वर्ष 2013 की पाॅलिसी में कम्पाउंडिंग करने के लिए 283 और जालंधर की 259 एप्लीकेशन पहुंची, जबकि कपूरथला में 145 एप्लीकेशन कम्पाउंडिंग के लिए आई है। इस संबंध में पुडा के एईओ चंद्रशेखर ने बताया कि पाॅलिसी में आने वाली काॅलाेनी की कम्पाउंडिंग कराई जाती है।

खबरें और भी हैं...