पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Lung Patients Arrived In Jalandhar's DC Office With A Cylinder With An Oxygen Mask On Their Mouths, They Said Where Do I Buy

इनकी मुश्किल किसी ने न सोची:मुंह पर ऑक्सीजन मास्क लगा सिलेंडर लेकर जालंधर के DC ऑफिस पहुंचे लंग्स के मरीज, बोले- मैं कहां से खरीदूं

जालंधर2 महीने पहले
DC ऑफिस में बैठे बुजुर्ग सर्बजीत रतन।

फेफड़े की बीमारी से परेशान जालंधर के बुजुर्ग सर्बजीत रतन गुरुवार को ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर DC ऑफिस पहुंच गए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने सब जगह पाबंदी लगा दी है। अब उन्हें सिलेंडर नहीं मिल रहा जबकि डेढ़ साल से वो सिलेंडर इस्तेमाल कर रहे हैं। अब अफसर ही बताएं कि वो कहां जाएं?। हालांकि बाद में कर्मचारियों ने उन्हें सिलेंडर की परमिशन की पर्ची देकर वहां से भेजा।

बुजुर्ग सर्बजीत रतन ने बताया कि उनके लंग्स में दिक्कत है। उनका बेटा अमेरिका में डॉक्टर है। वो वहीं रह रहे थे। जब वहां कोरोना फैला तो वो भारत वापस लौट आए। इसके बाद वापस नहीं जा सके। वो पिछले डेढ़ साल से ऑक्सीजन सिलेंडर का इस्तेमाल कर रहे हैं। पहले वो बाजार से भरा हुआ सिलेंडर खरीद लेते थे। अब सब बंद हो गया। उन्होंने पूरे शहर का चक्कर काट लिया लेकिन कहीं से कोई ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं दे रहा।मजबूर होकर वो इसे लेकर DC ऑफिस आ गए हैं कि या तो सिलेंडर भरवाकर दो, अन्यथा वो यहां से नहीं जाएंगे। उनको ऑफिस में देख कर्मचारियों में भी हड़कंप मच गया। आनन-फानन में अफसरों से बात की गई और उसके बाद उन्हें सिलेंडर लेने के लिए मंजूरी का पत्र देकर रवाना किया गया।

बड़ा सवाल : बाकी मरीजों के लिए बंदोबस्त क्यों नहीं?

कोरोना संक्रमण फैलते ही प्रशासन ने ऑक्सीजन सिलेंडर की खुली बिक्री बंद कर दी है। ऑक्सीजन की सप्लाई अब कोरोना मरीजों तक सीमित कर दी गई है लेकिन इसके बीच बड़ा सवाल यह है कि उन लोगों का क्या होगा? जो पहले से बीमारी से ग्रस्त हैं और उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत पड़ती है। प्रशासन ने उन लोगों को मंजूरी देने के लिए कोई अलग से इंतजाम नहीं किया है।