जालंधर में गुरदास मान पर पर्चे का विवाद बढ़ा:सिंगर के समर्थक नकोदर पुलिस के पास पहुंचे, लाडी शाह को अपशब्द कहने वाले सिख नेता पर भी FIR की मांग

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नकोदर थाने पहुंचे मान समर्थक। - Dainik Bhaskar
नकोदर थाने पहुंचे मान समर्थक।

मशहूर पंजाबी गायक गुरदास मान के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने के पर्चे का विवाद बढ़ गया है। अब मान समर्थक भी विरोध में बाहर आ गए हैं। उन्होंने मांग की कि मान पर केस दर्ज कराने वाले सिख नेता परमजीत सिंह अकाली पर भी पर्चा दर्ज किया जाए। सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रही है, उसमें डेरे के लाडी शाह जी को अपशब्द कहे जा रहे हैं, जिसे वो कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने डीएसपी को शिकायत सौंप दी है। पुलिस ने कुछ दिन का वक्त मांगा है। अगर केस दर्ज न हुआ तो वो संघर्ष करने से पीछे नहीं हटेंगे।

लाडी शाह को बताया था गुरु अमरदास जी का वंश

नकोदर में डेरा बाबा मुराद शाह मेले में गायक गुरदास मान ने स्टेज पर स्पीच दी थी। जिसमें उन्होंने डेरे के गद्दीनशीन रहे लाडी शाह को गुरु अमरदास जी का वंश बताया था। यह वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो सिख संगठन भड़क उठे। उन्होंने 4 दिन नकोदर पुलिस थाने व SSP ऑफिस में धरना दिया। इसके बाद भी बात न सुनी गई तो उन्होंने जालंधर-दिल्ली नेशनल हाईवे जाम कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने गुरदास मान पर IPC की धारा 295A के तहत केस दर्ज कर लिया।

मान को मिला सांसद बिट्‌टू व विधायक वड़िंग का साथ

सिख संगठनों के विरोध के बाद पंजाबी गायक गुरदास मान ने इसके लिए हाथ जोड़ व कान पकड़कर माफी मांग ली थी। उन्होंने कहा था कि गुरुओं का अपमान करने की वो सोच भी नहीं सकते। हालांकि उनकी माफी से सिख संगठन संतुष्ट नहीं हुए। मान पर पर्चा दर्ज होने के बाद लुधियाना से कांग्रेसी सांसद रवनीत बिट्‌टू व गिद्दड़बाहा से विधायक अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि जब मान ने माफी मांग ली तो इस मामले को तूल नहीं देना चाहिए था और केस दर्ज करना गलत है। वड़िंग ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलकर केस रद्द कराने की बात कही।

डेरा प्रबंधकों ने कहा : सोशल मीडिया प्रचार से सतर्क रहें

गुरदास मान पर केस दर्ज होने के बाद सोशल मीडिया पर अपील होने लगी थी कि डेरा बाबा मुराद शाह के श्रद्धालु इकट्‌ठा हों। हालांकि इसके बाद डेरा प्रबंधक सामने आए। उन्होंने कहा कि डेरे की तरफ से ऐसा कोई संदेश नहीं दिया गया है। लोग सोशल मीडिया पर डेरे के नाम से हो रहे प्रचार से सतर्क रहें। पुलिस को शिकायत देने वालों ने भी कहा कि वो डेरे के श्रद्धालु हैं और परमजीत अकाली की लाडी शाह जी के बारे में की गई टिप्पणी से उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। कानून सबके लिए एक समान है, इसलिए परमजीत पर भी धार्मिक भावनाएं भड़काने का केस दर्ज किया जाए।

खबरें और भी हैं...