पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Manish Was Murdered At Bhargava Camp In Baltarn Park; There Were 7 Wounds On The Body, Teeth Were Broken, Blood Came Out From Nose And Mouth

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा:बल्टर्न पार्क में की थी भार्गव कैंप के मनीष की हत्या; शरीर पर 7 जख्म थे, दांत टूटा था, नाक व मुंह से निकला था खून

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हत्यारे ले गए थे फोन, कड़ा, अंगूठी व चेनी

बल्टर्न पार्क में 16 अप्रैल को भार्गव कैंप के 21 साल के मनीष की मिली लाश के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है कि उसके शरीर पर 7 जख्म थे, जोकि गंभीर नहीं थे। मृतक का सामने वाला दांत टूटा हुआ था जबकि नाक व मुंह में खून निकला था। अभी विसरा रिपोर्ट आनी बाकी है।

मनीष की फैमिली ने सीपी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करके कहा था कि उनके इकलौते बेटे की हत्या की गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट को आधार बनाकर थाना-1 में बुधवार रात अज्ञात पर कत्ल का पर्चा दर्ज किया है। मृतक का फोन, चांदी का कड़ा, टाॅप्स, चेन व कछुए वाली अंगूठी गायब थी। डीसीपी गुरमीत सिंह ने कहा कि सीआईए स्टाफ के साथ मिलकर जांच कर रही है।

बल्टर्न पार्क में आई अंतिम टावर लोकेशन
सीपी दफ्तर के बाद धरने के बाद जागी पुलिस ने मामले के हर पहलू पर जांच शुरू कर दी। कॉल डिटेल से यह बात सामने आई कि मनीष के मोबाइल फोन की अंतिम लोकेशन बल्टर्न पार्क में थी। 17 अप्रैल करीब 7 बजे की अंतिम टावर लोकेशन मिली है। पुलिस मान कर चल रही है कि मनीष की हत्या करने वाले भेदी हैं। वह मोबाइल ऑन-ऑफ कर रहे थे। इसलिए पुलिस मनीष की एक महीने की कॉल डिटेल निकलवा कर जांच में जुटी है क्योंकि पुलिस मान कर चल रही है कॉल डिटेल में हत्यारों का राज छुपा है। बता दें कि बल्टर्न पार्क की नर्सरी के पास नगर निगम के कर्मचारी हरी प्रसाद ने 17 अप्रैल की सुबह लाश देख कर पुलिस को सूचना दी थी। गर्दन पर रगड़ के निशान थे, मगर ऐसे चोट नजर नहीं आ रहे थे।

पिता बोला- सारी रात फोन बंद था, तड़के भी फोन नहीं उठाया
भार्गव कैंप के रहने वाले 48 साल के तिलक राज ने कहा कि वे घर में सर्जिकल का काम करते हैं। तीन बेटियां हैं और इकलौता बेटा मनीष था। 16 अप्रैल की रात 8:30 बजे वह फोन पर बात करते-करते घर से चला गया पर वापस नहीं आया। सारी रात उसका फोन बंद रहा। तड़के 5 बजे काॅल हुई पर फोन नहीं उठाया। इसके बाद थाने में बेटे की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज करवाने चले गए थे। मीडिया में आई न्यूज से पता चला कि उनके बेटे की लाश बल्टर्न पार्क से मिली है, जिसके बाद वे बल्टर्न पार्क पहुंचे थे।

पर्सनल लाइफ को लेकर मनीष की हत्या की गई
पुलिस ने मनीष की कॉल डिटेल निकलवाई तो उसमें बहुत से संदिग्ध मोबाइल नंबर मिले हैं। 16 अप्रैल को करीब 8 मोबाइल नंबर्स से फोन आए थे। ऐसी ही कॉल बाकी दिनों में भी मनीष को आई थीं। पुलिस 16 अप्रैल को काॅल करने वाले 8 लोगों को जांच के दायरे में लेकर आई है। जांच मनीष की पर्सनल लाइफ पर आकर रुक गई है। पुलिस मनीष की पर्सनल लाइफ के साथ-साथ लूट के एंगल पर जांच कर रही है क्योंकि मनीष का मोबाइल फोन से लेकर बाकी का सामान अब तक नहीं मिला है।

खबरें और भी हैं...