• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • MLA Kamalu, Who Came Out From In Front Of Sidhu In A Disgrace, Started Sitting On The Chair, Then The Working Head Nagra Stopped Him; When The Video Went Viral, He Said – I Did Not Feel, The Captain Had Joined The Congress

सिद्धू के आगे से बेआबरू होकर निकले MLA कमालू:कुर्सी पर बैठने लगे तो वर्किंग प्रधान नागरा ने रोका; वीडियो वायरल होने पर बोले- मैंने फील नहीं किया, कैप्टन ने कराया था कांग्रेस में शामिल

जालंधरएक महीने पहले

पंजाब कांग्रेस में मची कलह अब हर कार्यक्रम में नजर आने लगी है। कैप्टन ने सिद्धू खेमे के मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा व सुखजिंदर सिंह रंधावा से दूरी बना रखी है। वहीं अब कैप्टन खेमे के विधायक सिद्धू ग्रुप को भी पसंद नहीं आ रहे। ताजा मामला कुछ दिन पहले नवजोत सिद्धू की चंडीगढ़ में प्रेस कान्फ्रेंस का है। वहां से मौड़ मंडी से विधायक जगदेव कमालू को बेआबरु होकर बाहर निकलना पड़ा। कमालू आम आदमी पार्टी (AAP) से विधायक बने थे। इसके बाद सुखपाल खैहरा के साथ कैप्टन ने उन्हें कांग्रेस में शामिल कर लिया।

ऐसे हुआ वाकया
पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू चंडीगढ़ में कृषि कानूनों को लेकर प्रेस कान्फ्रेंस कर रहे थे। उनके साथ महासचिव परगट सिंह, कुलजीत नागरा व अन्य कार्यकारी प्रधान और रणनीतिक सलाहकार पूर्व DGP मुहम्मद मुस्तफा भी थे। हुआ यूं कि मुस्तफा सिद्धू के बगल से उठकर चले गए। यह देख कुलजीत नागरा उनके वाली कुर्सी पर बैठ गए। अब नागरा वाली कुर्सी एक किनारे खाली रह गई। तभी वहां जगदेव कमालू पहुंच गए। उन्होंने नागरा को हाथ जोड़े और खाली कुर्सी पर बैठना चाहा।

तभी नागरा ने उन्हें कुर्सी पर बैठने से रोक दिया। इसके बाद वह कुर्सी ही वहां से हटा दी गई। कमालू के चेहरे पर तब बेबसी व नाराजगी दिखी। सिद्धू की टीम के किसी मेंबर ने कान में कुछ समझाया और कमालू फिर धीरे-धीरे करके बाहर निकल गए। इस सारे वाकये का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। हालांकि इसको लेकर कमालू या नागरा की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। फिर भी इसे कांग्रेस के भीतर कैप्टन व सिद्धू ग्रुप में मची खानाजंगी से जोड़कर देखा जा रहा है।

कैप्टन ने हैलिपैड पर किया था शामिल

जगदेव कमालू मौड़ मंडी से AAP के विधायक हैं। इसके बाद वह सुखपाल खैहरा के ग्रुप में शामिल हो गए। कुछ दिन पहले जब सुखपाल खैहरा कांग्रेस में शामिल हुए तो पिरमल खालसा के साथ कमालू भी आ गए। CM कैप्टन अमरिंदर सिंह की तीनों विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराने की फोटो हैलिपैड से ही आई। इसके बाद कांग्रेस सिद्धू व कैप्टन गुट में बंटी तो तीनों विधायक डटकर कैप्टन के साथ खड़े हैं। यही वजह है कि सिद्धू की कान्फ्रेंस के वक्त कमालू को कुर्सी तो दूर कोई तरजीह तक नहीं मिली।

आप छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सुखपाल खैहरा, पिरमल खालसा व जगदेव कमालू के साथ CM कैप्टन अमरिंदर सिंह। दिल्ली जाने से पहले कैप्टन ने इन्हें कांग्रेस में शामिल किया था।
आप छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सुखपाल खैहरा, पिरमल खालसा व जगदेव कमालू के साथ CM कैप्टन अमरिंदर सिंह। दिल्ली जाने से पहले कैप्टन ने इन्हें कांग्रेस में शामिल किया था।

गिला-शिकवा नहीं, मुझे वहां नहीं जाना चाहिए था

जगदेव कमालू ने कहा कि मुझे इस बात का कोई गिला-शिकवा नहीं है। मुझे कुछ काम था तो मैं परगट सिंह से मिलने के लिए वहां चला गया था। मुझे वहां नहीं जाना चाहिए था। जब मैं परगट सिंह को बुलाने गया तो कुछ लोगों ने मुझे वहां बैठने के लिए कहा। जिसके बाद यह वाकया हुआ। कमालू ने कहा कि मैंने कांग्रेस पार्टी ज्वॉइन की है और कैप्टन व सिद्धू दोनों ही कांग्रेस पार्टी में हैं। वह नहीं चाहते थे कि कोई और कान्फ्रेंस में बैठे।

खबरें और भी हैं...