टोल फ्री नंबर जारी:पेंशन व इनकम सर्टिफिकेट के सबसे ज्यादा आवेदन, काउंटर साइन के लिए एनआरआईज भी पहुंच रहे

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेवा केंद्रों में पब्लिक सुविधा के काउंटर बढ़ाने के लिए सरकार को भेजी फाइल, टोल फ्री नंबर 1100 जारी

जिले के 33 सेवा केंद्रों में 350 के करीब पब्लिक सेवाओं की सुविधा दी जा रही है। पिछले दिनों सेवाओं को समय पर मुहैया करवाने के साथ सेवा केंद्रों की जीरो पेंडेंसी को लेकर जालंधर को पहला स्थान मिला। डीसी केंद्रों की रोजाना कार्यप्रणाली की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सभी सेवा केंद्रों का रिव्यू किया गया तो पता चला कि सभी तरह की पेंशनों को जब से डबल किया है तब से पेंशन लगवाने के सबसे ज्यादा अवेदना अा रहे है। इसके बाद इनकम सर्टिफिकेट बनवाने वाले लोगों की सबसे ज्यादा तादाद है। जिले में कुल 33 सेवा केंद्र है और जिला प्रशासकीय कांप्लेक्स के अंदर टाइप-1 सेवा केंद्र है जो जिले का सबसे बड़ा सेवा केंद्र है जिसमें 22 काउंटर है। यहां पर रोजाना 500 के करीब लोग पहुंचते है।

पिछले दिनों तहसील स्तर पर भी सेवा केंद्रों की एसडीएम की तरफ से जांच की गई तो उन्होंने सरकार से सेवा केंद्रों में काउंटर बढ़ाने की मांग की है जिसकी प्रपोजल सरकार को भेजी गई है। सेवा केंद्रों में किसी भी तरह की शिकायत के लिए प्रशासन की तरफ से 1100 टोल फ्री नंबर भी जारी किया गया है। यहां पर लोग अपने दस्तावेज लेट होने से लेकर अगर सेवा केंद्रों में किसी भी तरह की समस्या हो तो इस पर शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है। इनकम, कास्ट और रेजिडेंस सर्टिफिकेट बनवाने के लिए लोगो को इलाका पार्षद के बाद पटवारी-कानूनगो के साइन की जरूरत है यहां पर सबसे ज्यादा लोगों को चक्कर लगाने पड़ रहे है। क्योंकि जिले में 401 पटवारियों के पद है जिसमे से 82 पटवारी काम कर रहे है। उनकी फील्ड में भी ड्यूटी होती है जबकि काम करवाने वाले लोगों को पटवारी के साइन लेने के लिए कई-कई दिन चक्कर लगाने पड़ते है।

खबरें और भी हैं...