कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता का सिद्धू पर हमला:सांसद डॉ. उदित राज बोले- शायद पंजाब में अनुसूचित जाति का CM नवजोत सिद्धू की नाराजगी की वजह है

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब कांग्रेस के प्रधान पद से इस्तीफा देने वाले नवजोत सिद्धू अब कांग्रेसियों के ही निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता व सांसद डॉ. उदित राज ने कहा कि पार्टी ने सिद्धू को क्या नहीं दिया। उन्हें मंत्री बनाया। पंजाब प्रदेश कांग्रेस का प्रधान बनाया। कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाकर सिद्धू की इच्छा पूरी की। मौजूदा CM चरणजीत सिंह चन्नी भी उनकी ही चॉइस थे। शायद अनुसूचित जाति का CM उनकी नाराजगी की वजह है। उनके इस ट्वीट के बाद माना जा रहा है कि कांग्रेस हाईकमान भी सिद्धू से नाखुश है। अभी तक पंजाब में कांग्रेस के राजनीतिक विरोधी यह बात कह रहे थे। कांग्रेस के भीतर से उठी ऐसी आवाज विरोधियों को और मजबूती देगी।

पहले खुद CM बनना चाहते थे सिद्धू
कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने के बाद सिद्धू खुद CM बनना चाहते थे। कांग्रेस हाईकमान ने इसे नहीं माना। पंजाब प्रधान सिख तो CM हिंदू चेहरे को बनाने का फैसला लिया गया। हाईकमान ने सुनील जाखड़ को नया मुख्यमंत्री बनाने के लिए कहा। इसी बीच विधायक दल बैठक में सिख स्टेट-सिख सीएम का मुद्दा उठ गया। bसके बाद सुखजिंदर रंधावा का नाम सामने आया। यह देख सिद्धू ने कहा कि अगर जट्‌ट सिख सीएम बनेगा तो फिर उन्हें बनाया जाए। हाईकमान नहीं माना तो सिद्धू नाराज होकर चले गए। उन्होंने मोबाइल भी बंद कर लिया। इसके बाद चरणजीत चन्नी को पंजाब का पहला अनुसूचित जाति का सीएम बना दिया गया। बताया गया कि इसके लिए सिद्धू ने ही नाम दिया था। बाद में उनकी सहमति भी ली गई थी। इसके बावजूद भी सिद्धू की नाराजगी बढ़ती जा रही है।

डॉ. उदित राज का ट्वीट।
डॉ. उदित राज का ट्वीट।

सिद्धू ने ब्लॉक किया तो तिवारी ने योगदान याद दिलाया
सांसद मनीष तिवारी ने एक और बहाने से नवजोत सिद्धू पर निशाना साधा। सिद्धू ने ट्विटर पर सी. राजशेखरन को ब्लॉक कर दिया। राजशेखरन ने खुद इस बारे में ट्वीट किया। उन्होंने सिद्धू को हास्यास्पद व्यक्ति करार दिया। इसके बाद मनीष तिवारी ने इसे रीट्वीट किया। तिवारी ने कहा कि सी. राजशेखरन मेरे साथ इंडियन यूथ कांग्रेस के सेक्रेटरी और रणदीप सुरजेवाला के साथ जनरल सेक्रेटरी रह चुके हैं। कांग्रेस को 2004 में सत्ता में लाने के लिए उन्होंने पुलिस के डंडे खाए। सीधे तौर पर उन्होंने सिद्धू के रवैये पर सवाल उठाए।

मनीष तिवारी का सिद्धू पर री-ट्वीट के जरिए हमला
मनीष तिवारी का सिद्धू पर री-ट्वीट के जरिए हमला
खबरें और भी हैं...