पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंजाब कांग्रेस में चुनाव की अगुवाई की जंग:सांसद मनीष तिवारी ने बांधे अमरिंदर की तारीफों के पुल, बोले- कैप्टन सरकार ने हर चुनौती को सबसे अच्छे ढंग से संभाला

जालंधर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब कांग्रेस में विधानसभा चुनाव 2022 में अगुवाई को लेकर कलह चल रही है। 2 ग्रुपों में बंटी कांग्रेस में नवजोत सिद्धू व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह को लेकर खानाजंगी मची है। इसी बीच पूर्व केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री व सांसद मनीष तिवारी ने CM कैप्टन अमरिंदर सिंह की जमकर पैरवी की। जालंधर पहुंचे तिवारी ने कहा कि कैप्टन ने पंजाब को हर संकट में बेहतर ढंग से संभाला। उन्होंने कहा कि जनवरी अंत तक चुनाव हो जाएंगे, ऐसे में पंजाब के लोग कांग्रेस को एक मौका और दें।

देश में सबसे बढ़िया ढंग से कोरोना से लड़े कैप्टन
जालंधर सर्किट हाउस पहुंचे सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि कैप्टन ने सारी चुनौतियों में पंजाब को संभाला। सबसे बड़ी चुनौती कोविड की थी। मैंने पूरे देश में अलग-अलग राज्यों के प्रबंध देखे और मैं कह सकता हूं कि कैप्टन सरकार ने सबसे अच्छे ढंग से स्थिति संभाली। इसके अलावा बार्डर स्टेट होने की वजह से ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से हथियार व नशा सप्लाई को भी रोका। उन्होंने कहा कि पंजाब में राजनीतिक स्थिरता व आर्थिक विकास के लिए फिर से कांग्रेस की सरकार बननी जरूरी है।

जालंधर में पत्रकारों से बातचीत करते मनीष तिवारी।
जालंधर में पत्रकारों से बातचीत करते मनीष तिवारी।

हरसिमरत बादल से मांगा जवाब
मनीष तिवारी ने कहा कि जिस कैबिनेट ने विवादित कृषि सुधार कानून के अध्यादेश काे मंजूर किया, उसमें हरसिमरत कौर बादल भी शामिल थी। हरसिमरत बादल बताए कि क्या उन्होंने कैबिनेट में इसका विरोध किया?। क्या उन्होंने कोई लिखित नोट इसके विरोध में दिया था?। उन्होंने कहा कि सबसे पहला विरोध पंजाब सरकार ने ही इस कानून का किया था।

पंजाब में आंदोलन न करने के कैप्टन के बयान से बचे
सांसद तिवारी से पूछा गया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों से पंजाब में आंदोलन न करने को कहा? तो इस पर तिवारी ने कहा कि कैप्टन ने केंद्र से कहा था कि जब संविधान में 127 संशोधन हो चुके हैं तो एक और कर इन विवादित कानूनों को खारिज कर दें। उनका बयान इसी संदर्भ में था। तिवारी ने कोई सीधी प्रतिक्रिया नहीं दी।

केंद्र ने 7 साल में पेट्रोल-डीजल से 25 लाख करोड़ इकट्‌ठा किया
तिवारी ने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले 7 वर्षों में पेट्रोल डीजल से 25 लाख करोड़ रुपया इकट्ठा किया। यह सारा पैसा आम लोगों की जेब से गया। पेट्रोल का रेट 100 व डीजल का 90 पार हो गया। सबसे खास बात यह है कि लोगों से 68% पैसा सेस के रुप में लिया गया ताकि इसे राज्यों को न लौटाना पड़े। केंद्र सरकार ने विरोधी पार्टी की सरकार होने की वजह से हमेशा पंजाब विरोधी रवैया अपनाया।

खबरें और भी हैं...