पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालंधर में कहर बरपा रहा कोरोना:बुधवार को 7 लोगों ने दम तोड़ा और 326 नए मरीज, कन्फर्म केस 35 हजार व मौतों का आंकड़ा 1000 पार

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना संक्रमण फैलने के साथ मौतों की गिनती बेतहाशा बढ़ने लगी है। - Dainik Bhaskar
कोरोना संक्रमण फैलने के साथ मौतों की गिनती बेतहाशा बढ़ने लगी है।

जालंधर में कोरोना का कहर नहीं थम रहा है। बुधवार को कोरोना से 7 लोगों ने दम तोड़ दिया जबकि 326 नए पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जिनमें 50 बाहरी जिलों के हैं। सबसे चिंताजनक बात यह है कि जिले में अब कन्फर्म केसों का आंकड़ा 35 हजार के पार हो गया है जबकि मौतें भी एक हजार से अधिक यानि 1001 हो चुकी हैं। तमाम दावों के बावजूद कोरोना से मौतों का सिलसिला नहीं थम रहा है। खासकर, मार्च व अप्रैल महीने में कोरोना ने इस कदर कोहराम मचा रखा है कि अफसर नाकामी छुपाने के लिए लोगों पर सावधानियां न बरतने से लेकर टेस्ट में देरी का "इल्जाम' लगा रहे हैं।

हालात बदतर.... मार्च-अप्रैल के 45 दिनों में 312 की मौत

जालंधर में कोरोना किस कदर जानलेवा हो चुका है, इसका अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि महज 45 दिन में 312 लोग कोरोना से दम तोड़ चुके हैं। एक मार्च को मरने वालों की कुल गिनती 689 थी जो 14 अप्रैल को एक हजार को पार कर 1001 हो चुकी है। साफ है कि जिस तरह के कोरोना के जमीनी हालात हैं, उसको सुधारने के लिए कोई सही कदम न उठाए गए तो मौतों का ग्राफ इसी तरह तेजी से बढ़ता रहेगा।

खबरें और भी हैं...