• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Pen Area Of Smart City See How The People Of The City Cross The Road Putting Lives At Stake, Whether There Is Red Light Or Not, Danger Is Everywhere

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का सर्वे:स्मार्ट सिटी का पेन एरिया- देखिए कैसे जिंदगी दांव पर लगा रोड क्रॉस करते हैं शहर के लोग, रेड लाइट हो या न हो, खतरा हर जगह

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 46,893 लोग 12 घंटे में 4 चौराहों से गुजरे, भगवान वाल्मीकि चौक नंबर एक पर रहा

स्मार्ट सिटी घोषित जालंधर का ये सबसे बड़ा दर्द है, जिससे आम आदमी रोजाना जूझता है लेकिन कभी इसका हल नहीं निकाला गया। मानो ये दर्द हो ही ना...। हमारे सिटी के चौराहों में पैदल क्रॉसिंग करने वालों के लिए रास्ता ही नहीं रखा गया है। सड़क के बीच सेंट्रल वर्ज दीवार बनकर खड़े हैं। जेब्रा लाइनिंग वहां लगाई जाती है, जहां आगे रास्ता बंद हो जाता है। सिटी में स्मार्ट रोड बनाने के लिए कोरोना से पहले शहर में चौराहों को पैदल क्रॉस करने वालों की संख्या का सर्वे पहली बार हुआ।

सुबह 8 से रात 8 बजे तक 12 घंटे के लिए हर पैदल चलने वाले की गिनती की गई। इसमें पाया गया है कि सबसे ज्यादा 20,466 लोग भगवान वाल्मीकि चौक को पैदल क्रॉस करने वाले थे। दूसरे नंबर पर डॉ. बीआर अंबेडकर चौक 13,133 पैदल चलने वालों के साथ था। पैदल चलने वालों का रास्ता न होने से लोग खुद ही वाहनों से बचते-बचाते भागकर रोड क्रॉस करते हैं।

खबरें और भी हैं...