पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लॉकडाउन खत्म, फिर भी आ रहे एवरेज बिल:लोग बोले- नहीं हो रही सुनवाई, अधिकारी बोले- बिजली बिल पूरा जमा करें, अगली बार ठीक आएगा

जालंधर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • डिफाॅल्टरों से पावरकॉम ने की ~70 लाख की रिकवरी, 50 कनेक्शन काटे, बिजली चोरों पर भी नकेल कसी

कोरोनाकाल में तो उपभोक्ताओं को पावरकॉम ने एवरेज बिल भेज कर बिलों की कलेक्शन की, लेकिन अब दोबारा से कुछ इलाकों में बिजली के बिल एवरेज के हिसाब से भेजे जा रहे हैं, जिसे ठीक करवाने के लिए उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिल ठीक करवाने के लिए पहले जब उपभोक्ता पावरकॉम के दफ्तरों में जाता है तो उन्हें एप्लीकेशन लिखकर देने के लिए कहा जाता है और बाद में अगले दिन जाकर उनसे एप्लीकेशन ली जाती है और पूरा बिल जमा करवाने के लिए कहा जाता है।

एवरेज बिल को लेकर कई बार उपभोक्ता डिस्पयूट कमेटी में केस भी दायर कर देता है, लेकिन वहां पर केस दायर करने से पहले 20 प्रतिशत बिल जमा करवाना ही पड़ता है। वहीं दूसरी तरफ पावरकॉम ने डिफाॅल्टरों पर नकेल डालने के लिए कर्मचारियों की गिनती बढ़ा दी है और हर रोज शहर के अलग अलग हिस्सों में जाकर कर्मचारी कनेक्शन काट रहे हैं। वीरवार को 70 लाख रुपए के करीब रिकवरी की गई और 50 के करीब कनेक्शन काटे गए हैं।

पहला बिल ठीक नहीं हुआ, दूसरा भी एवरेज के हिसाब से भेज दिया

कालिया कॉलोनी निवासी संदीप कुमार ने बताया कि वे अभी अपने पहले ही बिल ठीक करवाने के लिए लगे हुए हैं। कोरोना काल मे उनका बिल 15 हजार के करीब आ गया था, जिसको ठीक करवाने के लिए वे कई बार पावरकॉम दफ्तर में गए। एप्लीकेशन तक दी गई। बीच में एक बार बिल सही आया तो अब दोबारा से एवरेज बिल उन्हें भेज दिया गया है, जो 20 हजार रुपए है। बिल ठीक करवाने के लिए जाओ तो आगे से कहा जाता है कि उन्हें हर हालत में पूरा बिल जमा करवाना होगा। उसके बाद ही सही बिल आपको आ जाएगा।

गलती मीटर रीडर की, एवरेज बिल हमें दिए जा रहे...स्वर्ण पार्क निवासी बलजीत सिंह ने बताया कि उनका बिल भी एवरेज के हिसाब से आया है। मीटर रीडर इस बार रीडिंग लेने के लिए नहीं आया, जिसका खमियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है। मीटर रीडर अगर नहीं आता है तो पावरकॉम खुद उसकी जानकारी हासिल करे। बिल देने का समय निकल जाता है और उन्हें एवरेज बिल जनरेट करके मीटर रीडर दे जाता है। किस्तें करवाने के लिए गए तो अधिकारियों ने कहा नहीं हो सकती हैं, पूरा बिल ही जमा करवाना होगा।

एवरेज बिल की किस्तें नहीं होतीं : चीफ इंजीनियर

चीफ इंजीनियर जैनिंदर दानिया ने कहा कि एवरेज बिल की किसी भी हालत में किस्तें नहीं हो सकती हैं। अगर हाल ही में बिल आया है तो उपभोक्ता को बिल जमा करवाना ही होगा। अगर किसी उपभोक्ता को परेशानी है या दिक्कत है। केवल उन लोगों की किश्तें की जा रही हैं। जिन्होंने लंबे समय से किसी कारणवश बिल जमा नहीं करवाया है। वहीं दूसरी ओर रेवेन्यू जेनरेट करने के लिए 31 मार्च तक सभी डिफाॅल्टरों से हर हालत में पैसे वसूलने हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें