एसटीएफ की रेड का मामला:आई-20 कार में भागी पिंकी ने नाका तोड़ पुलिस की बाइक को मारी टक्कर, दाे मुलाजिम जख्मी

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पकड़े गए चार आरोपियों की कॉल डिटेल खंगाली
  • पूछताछ में देवरानी का खुलासा- पिंकी दीदी चला रही है चिट्टे का रैकेट, वह सिर्फ सप्लाई करती है

तिहाड़ जेल में बंद चिट्टा तस्कर मनजीत सिंह की पत्नी बलराज कौर पिंकी एसटीएफ के हाथ आती-आती बच गई। आई-20 कार में ड्राइवर के साथ भागी पिंकी ने पुलिस नाका तोड़ एसटीएफ के एक जवान को कार से कुचलने की कोशिश की। इसके बाद बाइक से पीछा कर रहे दो मुलाजिमाें को टक्कर मारी। जख्मी हुए एसटीएफ के दो जवानाें काे प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इनके नाम अमरजीत सिंह और अमनदीप सिंह हैं। फरार पिंकी और उसके ड्राइवर के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 353, 186 और 427 के तहत पर्चा दर्ज किया गया है।

एसटीएफ की 7 टीमें पिंकी की तलाश में जुटी हैं। इसे पहले पकड़ी गई पिंकी की देवरानी परमजीत कौर भोला ने खुलासा किया है कि मनजीत पाजी के तिहाड़ जेल जाते ही पिंकी दीदी (जेठानी) ने चिट्टा का रैकेट चलाना शुरू कर दिया था। परमजीत ने माना कि पति चिट्टा पीने का आदी है। मोटी कमाई के चक्कर वह दीदी के साथ मिलकर रैकेट से जुड़ गई। दीदी चिट्टा खरीदकर लाती थी और वह सप्लाई देती थी। परमजीत के खुलासे के बाद चिट्टा तस्करी के केस में पिंकी को नामजद किया है।

नाकाबंदी, एसटीएफ को मॉडल टाउन की मिली थी टावर लोकेशन

एसटीएफ की टीम ने गुरु तेग बहादुर नगर एरिया से सटे न्यू गोबिंद सिंह नगर में रहती परमजीत कौर भोला को सोमवार को उस समय पकड़ लिया था जब गांव लखनपाल के अमरीक सिंह, उनकी पत्नी सोमा और दामाद संदीप को पकड़ा था। इनसे 500 ग्राम चिट्टा बरामद हुआ था। पूछताछ में परमजीत कौर ने खुलासा किया था कि चिट्टे के रैकेट की किंगपिन उसकी जेठानी बलराज कौर पिंकी है। पिंकी आई-20 कार में भागी है। वह खुद ड्राइविंग नहीं करती बल्कि उसने गुरविंदर सिंह नामक ड्राइवर रखा है। इसके बाद पिंकी को पकड़ने के लिए एसटीएफ जुट गई थी।

पिंकी की लोकेशन मॉडल टाउन एरिया में आई थी। यहां पर एसटीएफ ने रेड की तो कार पहले ही निकल गई थी। एसटीएफ ने मॉडल टाउन से लेकर मिट्ठापुर रोड एरिया में ट्रैप लगाए क्योंकि पिंकी का पुराना घर मिट्ठापुर में है। एसटीएफ की एक टीम संघा चौक में नाकाबंदी कर आई-20 कार की चेकिंग कर रही थी। इस बीच पिंकी की कार आई। एसटीएफ काे देख ड्राइवर ने कार दौड़ी दी। एसटीएफ के जवान अमरजीत सिंह और अमनदीप सिंह ने कार का पीछा किया ताे ड्राइवर ने तेजी से कार मोड़कर बाइक को टक्कर मारी। दाे जवानाें काे जख्मी करने के बाद कार मिट्ठापुर की ओर निकल गई।

एल्डिको ग्रींस में ट्रैप लगा बैठी रही पुलिस
भोला ने पूछताछ में कहा था कि दीदी वर्तमान में नकोदर रोड पर न्यू जालंधर इन्क्लेव (खांबड़ा) में रहती है। यहां पर एसटीएफ ने रेड की मगर वहां से पता चला कि कार यहां आई ही नहीं। वहां से पता चला कि पिंकी का एल्डिको ग्रीन्स में आना-जाना है। वहां का घर ट्रेस कर ट्रैप लगाया पर पिंकी वहां नहीं अाई।

भाेला का रिमांड, कोरोना टेस्ट करवाया
500 ग्राम चिट्टा (हेरोइन) के साथ पकड़ी गई परमजीत कौर भोला, गांव लखनपाल के अमरीक सिंह और उसकी पत्नी सोमा और उनके दामाद संदीप निवासी चन्नण पुरा को अदालत में पेश किया गया। यहां से चारों आरोपी एसटीएफ के 2 दिन के रिमांड पर सौंप दिए गए। इनके कोरोना टेस्ट भी करवाए गए हैं। बता दें कि एसटीएफ ने न्यू गोबिंद सिंह नगर में रेड कर परमजीत कौर से 250 ग्राम, अमरीक व उसकी पत्नी से 100-100 ग्राम और उनके दामाद से 50 ग्राम चिट्टा बरामद किया था।

नेटवर्क ब्रेक होने पर खुलेंगे कई बड़े राज
परमजीत कौर भोला और उसके साथ पकड़े गए अमरीक सिंह, उसकी पत्नी और दामाद के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवा कर जांच की जा रही है। एसटीएफ यह देख रही है कि वह गिरफ्तारी से पहले कौन-कौन से एरिया में सक्रिय रही। कहीं वह पिंकी के साथ चिट्टे की सप्लाई लेने खुद तो नहीं जाती थी। एसटीएफ पता लगा रही है कि चिट्टा बेचकर कमाए पैसे का क्या किया। एसटीएफ पिंकी और भोला की जायदाद का ब्यौरा जुटा रही है। इनके टच में रहने वाले लोग जांच के दायरे मेें आए हैं।

खबरें और भी हैं...