पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना के चलते प्रैक्टिस बंद:ओलिंपिक क्वालीफाई करने के लिए 6 घंटे खेतों और पार्कों में पसीना बहा रहे सूबे के खिलाड़ी

जालंधर18 दिन पहलेलेखक: वारिस मलिक
  • कॉपी लिंक
गुरिंदर ने जल्द प्रैक्टिस की परमिशन देने की मांग की है। - Dainik Bhaskar
गुरिंदर ने जल्द प्रैक्टिस की परमिशन देने की मांग की है।
  • टोक्यो ओलिंपिक में 52 दिन बचे हैं, लॉकडाउन के कारण पंजाब में स्पोर्ट्स एक्टिविटी पूरी तरह रुकी
  • एथलीट्स बोले- काफी समय से कंपीटीशन से दूर हैं, प्रैक्टिस की परमिशन मिले

‘जहां चाह, वहां राह’ इस कहावत को पंजाब के खिलाड़ी जी रहे हैं। टोक्यो ओलिंपिक में 52 दिन बचे हैं। लेकिन लॉकडाउन के चलते सूबे में स्पोर्ट्स एक्टिविटी बंद हैं। देश के लिए मेडल की चाह लिए सूबे के खिलाड़ी कहीं पार्क तो कहीं घरों और खेतों में 6-6 घंटे प्रैक्टिस कर रहे हैं। पटियाला में 15 जून को इंडियन ग्रैंड प्रिक्स (4) व 25 से 29 जून तक 60वें राष्ट्रीय इंटर स्टेट सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप टूर्नामेंट होना है।

ये दोनों ओलिंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट हैं। खिलाड़ियों का कहना है कि अन्य राज्यों में खिलाड़ियों को प्रैक्टिस की छूट मिली है, लेकिन पंजाब में ऐसा नहीं है। अन्य राज्यों की तुलना में यहां खेल इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं है, पर कई खिलाड़ी मेहनत और लगन से तैयारी में जुटे हैं। दविंदर पाल सिंह खरबंदा, डायरेक्टर स्पोर्ट्स (पंजाब) ने कहा-प्रैक्टिस का इश्यू मेरे नॉलेज में है। सरकार से जल्द ग्राउंड में प्रैक्टिस की इजाजत मिल जाएगी।

पार्क में गुरिंदरवीर की प्रैक्टिस

21 वर्षीय गुरिंदरवीर सिंह भारत के सबसे तेज 100 मीटर फर्राटा धावक हैं। उन्होंने पिछले महीने पटियाला में नेशनल मीट में 10.3 सेकंड के साथ 100 मीटर की दौड़ में गोल्ड मेडल जीता था। वे कहते हैं कि ओलिंपिक में क्वालीफाई करने के लिए 10.1 सेकेंड का समय चाहिए। गुरिंदर ने जल्द प्रैक्टिस की परमिशन देने की मांग की है।

घर को ही मैदान बनाया

32 वर्षीय दविंदर सिंह कंग पंजाब के एकमात्र खिलाड़ी हैं, जिन्होंने एथलेटिक्स वर्ल्ड चैंपियनशिप (लंदन, 2017) में 84.57 मीटर जैवलिन फेंक कर फाइनल में जगह बनाई थी। दविंदर ने कहा कि वह घर पर ही वेट ट्रेनिंग से खुद की फिटनेस हासिल कर रहे हैं। ओलिंपिक के बाद 2022 में कॉमनवेल्थ गेम्स भी है। ट्रेनिंग नहीं होगी ते मेडल कैसे आएंगे। उनका बेस्ट थ्रो 84.57 मीटर है और ओलिंपिक क्वालीफाई के लिए 85 मीटर का बेंचमार्क है।

खेत में तैयारी

29 वर्षीय किरपाल सिंह एशियन गेम्स (2019,नेपाल) के रिकाॅर्ड होल्डर है। उन्होंने यहां पर 57.77 मीटर की थ्रो लगाई थी। ओएनजीसी में कार्यरत किरपाल ने बताया कि ओलिंपिक के लिए 66 मीटर का क्वालीफाई टारगेट है। इसके लिए वे पूरी तैयारी कर रहे हैं।

कर्नाटक में रिहर्सल

एशियन गेम्स जकार्ता में ट्रिपल जंप में गोल्ड मेडल जीतने वाले अरपिंदर कर्नाटक के जेएसडब्ल्यू सेंटर में 6 घंटे रोज प्रैक्टिस कर रहे हैं। अरपिंदर कहते हैं,यहां परमिशन ना मिलने से चिंतित अरपिंदर प्रैक्टिस में 17.17 मीटर जंप लगा रहे हैं, क्वालीफाई के लिए 17.14 मीटर बेंच मार्क है।

खबरें और भी हैं...