1.250 किलोग्राम अफीम के साथ एक काबू:फगवाड़ा का भैरों जालंधर के वडाला चौक पर पुलिस ने नाके पर दबोचा

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़ा गया नशा तस्कर पुलिस अधिकारियों के साथ - Dainik Bhaskar
पकड़ा गया नशा तस्कर पुलिस अधिकारियों के साथ

नशा तस्करों के खिलाफ छेड़े अभियान के तहत पुलिस ने बस्तियों में वडाला चौक पर एक तस्कर को 1.250 किलोग्राम अफीम के साथ काबू किया है। पकड़ा गया व्यक्ति जवाहर उर्फ भैरों ​​​​​​ बिहार के गांव तारा परसा थाना बिजेपुर (मुसैरी) जिला गोपाल गंज का रहने वाला है। लेकिन अभी वह मोहन सिंह के घर किराये के मकान में फगवाड़ा के पलाही रोड़ पर दशमेश डिग्री कालेज की बैक साइड पर रहता है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस थाना भार्गव कैंप के प्रभारी इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह सेखों ने नशे के खिलाफ छेड़ी गई मुहिम के वडाला चौक पर पुलिस स्टाफ के साथ नाका लगाया हुआ था। नाके की तरफ थाना प्रभारी ने एक व्यक्ति के आते हुए देखा। पुलिस के देख कर व्यक्ति के कुछ हाव भाव बदल गए। वह घबरा कर छिपने की कोशिश करने लगा।

सील कर केस प्रॉपर्टी बनाई गई अफीम
सील कर केस प्रॉपर्टी बनाई गई अफीम

थाना प्रभारी ने शक की विनाह पर व्यक्ति को रोका और उसका नाम पूछा। पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम भैरों बताया। जब पुलिस ने कहा कि तुम्हारा पूरा नाम और पता क्या है तो बोला कि उसका असली नाम जवाहर लाल यादव उर्फ भैरो है। वह मूल रूप से बिहार के गांव तारा परसा थाना बिजेपुर (मुसैरी) जिला गोपाल गंज का रहने वाला है। लेकिन अभी वह मोहन सिंह के घर किराये के मकान में फगवाड़ा के पलाही रोड़ पर दशमेश डिग्री कालेज की बैक साइड पर रहता है।

पुलिस ने जब जवाहर उर्फ भैरों की तलाशी ली तो उसके कब्जे से 1.250 किलोग्राम अफीम बरामद की। पुलिस ने भैरों के एनडीपीएस के तहत केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में पता चला है कि भैरों के खिलाफ पुलिस थाना सिटी फगवाड़ा में भी एनडीपीएस के तहत साल 2020 में मामला दर्ज है। आरोपी जमानत पर बाहर है। जेल से छूटने के बाद दोबारा फिर से नशा बेचने में लग गया।

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि पकड़े गए आरोपी से पूछताछ की जा रही है। उससे पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि वह अफीम की इतनी बड़ी खेप कहां से लेकर आया था और कहां पर किसे देने के लिए जा रहा था।