पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालंधर का गोल्ड किट्‌टी स्कैम फिर चर्चा में:OLS कंपनी के खिलाफ एक ही दिन में पुलिस ने 8 केस दर्ज किए, 21.78 लाख की ठगी और उजागर

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मामले की जांच अब पहले से बनी SIT को सौंप दी गई है। - Dainik Bhaskar
मामले की जांच अब पहले से बनी SIT को सौंप दी गई है।

जालंधर का गोल्ड किट्‌टी स्कैम फिर से चर्चा में आया है। PPR मार्केट स्थित OLS विज प्रा. लि. कंपनी के पांच लोगों के खिलाफ पुलिस ने एक ही दिन में 8 FIR दर्ज की हैं। जिनमें उन्होंने 21.78 लाख की ठगी की है। कंपनी के गगनदीप सिंह, रणजीत सिंह, गुरमिंदर सिंह, मनदीप कौर व नवदीप कौर के खिलाफ पुलिस ने धोखाधड़ी के केस दर्ज किए हैं। इन मामलों की जांच भी पहले बनी स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) को सौंप दिया गया है।

इन लोगों से हुई ठगी

जिन लोगों से ठगी के आरोप में पुलिस ने केस दर्ज किया है, उनमें सुभाष नगर सोढ़ल के रहने वाले अमरजीत सिंह से 3 लाख रुपए, न्यू संतोखपुरा के गणेश कुमार से 33 हजार, शशी नगर के धर्मपाल से 24 हजार, सुभाष नगर की हरविंदर कौर से 4.08 लाख, न्यू संतोखपुरा राम नारायण से 36 हजार, सोढ़ल रोड सुभाष नगर के सुखविंदर सिंह से 4.80 लाख, साेढ़ल रोड अमन नगर के राहुल शर्मा से 4.60 लाख और संजय गांधी नगर के सीता राम से 4.37 लाख की ठगी हुई है।

पहले घरेलू सामान,फिर गोल्ड किट्‌टी और दफ्तर बंद कर फरार

मल्टीलेवल मार्केटिंग की आड़ में OLS कंपनी ने पूरे योजनाबद्ध तरीके से ठगी की। शुरूआत में LED, होम थियेटर, RO सिस्टम, CCTV कैमरा जैसा घरेलू जरूरत के सामान के लिए किश्तें जमा कराई गई। लोग इससे जुड़ते गए। इसके बाद कंपनी ने उनके रिश्तेदारों को भी इसमें जोड़ने को कहा, जिसके बदले उन्हें नए मेंबर बनाने का कमीशन दिया जाता था। इसके बाद कंपनी ने गोल्ड किट्‌टी शुरू की। इसमें 11 महीने की किश्त कस्टमर को देनी होती थी जबकि बारहवीं किश्त कंपनी ने देनी थी। इसके बाद पूरी कीमत का सोना दिया जाना था। कंपनी ने पैसा तो जमा किया लेकिन जब सोना देने की बारी आई तो अपना सामान समेटकर दफ्तर बंद कर फरार हो गए।

खबरें और भी हैं...