पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेबसी पर अपराध की मार:पोलियोग्रस्त लड़के को धमकाकर चाबियां छीन 23 हजार दराम चोरी, पिता इलाज के लिए दुबई से कमाकर लाया था

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लड़के का पिता घर लौटा तो उसने चोरी की पूरी बात बताई। - प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
लड़के का पिता घर लौटा तो उसने चोरी की पूरी बात बताई। - प्रतीकात्मक फोटो
  • जालंधर के परसरामपुर गांव में हुई वारदात, सोने की बालियां और सेमसंग मोबाइल भी ले गया आरोपी
  • केस दर्ज करने के बाद आरोपी को नहीं पकड़ सकी पुलिस, जांच के नाम पर लटकाई जा रही कार्रवाई

पोलियोग्रस्त लड़के को धमकाकर चाबियां छीन एक आरोपी ने उसके इलाज के लिए पिता के दुबई से कमाकर लाए 23 हजार दराम चोरी कर लिए। दाेनों पैरों से लाचार लड़के की बेबसी का फायदा उठा आरोपी घर से सोने की बालियां और सेमसंग मोबाइल भी ले भागा। पिता घर लौटा तो बेटे ने वारदात के बारे में बताया। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और गांव के ही रहने वाले आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

दिन-रात काम कर जमा किए थे पैसे

परसरामपुर के रहने वाले संतोख लाल ने बताया कि वह रिक्शा चलाता है। 2 साल पहले वह दुबई से वापस लौटा। उसका करीब 17-18 साल का लड़का साजन पोलियो से ग्रस्त है। इससे उसके दोनों पैर खराब हो गई हैं। बेटे के इलाज के लिए वह दुबई में दिन-रात काम कर 23 हजार दराम लेकर आया था।

सुबह ऑटो लेकर निकल गया, दोपहर को लौटा तो चोरी का पता चला

बीती 20 मार्च को वह रोज की तरह सुबह 9 बजे ऑटो रिक्शा लेकर काम पर निकल गया। काम के बाद दोपहर 3.30 बजे वह घर लौटा तो उसके बेटे साजन ने बताया कि गांव का ही हरीश कुमार उनके घर आया था। उसने उनके पोलियोग्रस्त बेटे को धमकाया और उससे चाबी छीन ली। फिर वह घर के अंदर से काफी सामान चोरी कर ले गया। उन्होंने आलमारी चैक की तो बेटे के इलाज से लाए दराम, एक जोड़ी सोने की बालियां और सेमसंग मोबाइल गायब थे। उसने तुरंत पुलिस को इसकी शिकायत की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें