• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Power Crisis Continues In Punjab, 12 Rakes Of Coal Found Yet 5 Units Closed; Maximum 9 Hours Blackout In Jalandhar, Situation Will Improve After 3 Days

पंजाब में बिजली संकट बरकरार:12 रैक कोयला मिला फिर भी 5 यूनिट बंद; जालंधर में सबसे ज्यादा 9 घंटे ब्लैकआउट, 3 दिन बाद ही सुधरेंगे हालात

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पावरकॉम के अफसरों का कहना है कि 15 अक्टूबर के बाद हालात सुधरने शुरू होंगे। - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
पावरकॉम के अफसरों का कहना है कि 15 अक्टूबर के बाद हालात सुधरने शुरू होंगे। - फाइल फोटो

कोयले की सप्लाई चालू होने के बावजूद पंजाब में बिजली संकट बरकरार है। सोमवार को कोयले के 12 रैक प्रदेश पहुंचे। इसके बावजूद थर्मल प्लांट की 5 यूनिट बंद पड़ी हैं। सोमवार को सबसे बुरी हालत जालंधर की रही। यहां 24 घंटों के दौरान 9 घंटे का ब्लैकआउट रहा। फिलहाल हालात सुधरने में अभी 3 दिन का वक्त और लग सकता है। तब तक पूरे पंजाब में लोगों को इसी तरह बिजली के घोषित और अघोषित कट झेलने पड़ेंगे।

राजपुरा और तलवंडी को मिले 6-6 रैक

सोमवार को कोयले के 6-6 रैक राजपुरा और तलवंडी साबो थर्मल प्लांट के लिए आए। मंगलवार को भी 13 रैक कोयला पहुंचने की उम्मीद है। इनमें से 6 राजपुरा थर्मल प्लांट, 4 मानसा, 2 गोइंदवाल साहिब और एक लहरा मोहब्बत में सप्लाई किया जाएगा। अफसरों का कहना है कि कोयले को प्लांट तक पहुंचने में थोड़ा वक्त लग सकता है, इस वजह से बिजली सप्लाई सुचारू होने में देरी हो रही है।

इन 5 यूनिटों में उत्पादन बंद

पंजाब में अभी भी 5 यूनिटों में बिजली का उत्पादन बंद पड़ा है। इनमें सरकार की तरफ से चलाए जा रहे रोपड़ और लेहरा मोहब्बत की भी 1-1 यूनिट शामिल हैं। बाकी तीन यूनिट गोइंदवाल समेत प्राइवेट थर्मल प्लांटों के हैं।

कहां कितना कोयला बचा

  • तलवंडी साबो थर्मल प्लांट : 45.6 घंटे
  • गोइंदवाल साहिब : 38.4 घंटे
  • राजपुरा थर्मल प्लांट : 19.2 घंटे
  • जीजीएसएसटीपी, रोपड़ : 86.4 घंटे
  • जीएचटीपी, लेहरा मुहब्बत : 81.6 घंटे

14.46 रुपए यूनिट बिजली बाहर से खरीदी

पंजाब के थर्मल प्लांट जरूरत केवल लगभग आधी ही बिजली का उत्पादन कर रहे हैं। इस वजह से सोमवार को भी पावरकॉम ने 14.46 प्रति यूनिट के हिसाब से करीब 1500 मेगावाट बिजली बाहर से खरीदी। इससे पहले रविवार को 11.60 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से 1,800 मेगावाट बिजली खरीदी गई थी।

खबरें और भी हैं...