पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बस में कोचिंग सेंटर पर FIR:प्रोफेसर का CM को ट्वीट- पंजाब में पढ़ाना भी क्राइम हो गया, DCP बोले- पढ़े-लिखे लोगों को ऐसा नहीं करना चाहिए

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रोफेसर एमपी सिंह का CM काे किया ट्वीट। - Dainik Bhaskar
प्रोफेसर एमपी सिंह का CM काे किया ट्वीट।

प्राइवेट स्कूल बस में बच्चों को पढ़ाने वाले कैमिस्ट्री गुरु कोचिंग सेंटर मालिक प्रोफेसर एमपी सिंह पर पुलिस ने कोविड नियमों के उल्लंघन का केस दर्ज कर लिया है। जिसके बाद प्रोफेसर ने CM कैप्टन अमरिंदर सिंह को ट्वीट किया कि पढ़ाना भी पंजाब में अब क्राइम हो गया। वह भी तब, जबकि पूरी सावधानियां रखी गई हों। इसके जवाब में कमिश्नरेट पुलिस के DCP (इन्वेस्टिगेशन) गुरमीत सिंह ने कहा कि पढ़े-लिखे लोगों को ऐसा नहीं करना चाहिए। उन्हें कोविड नियमाें का पालन करना चाहिए, तभी अब इससे जंग जीत सकेंगे। उन्होंने कहा कि जो वीडियो पुलिस को मिली है, उसमें प्रोफेसर एमपी सिंह का मास्क भी सही ढंग से नहीं पहना था।

बस भी जांच के दायरे में

जिस GNA यूनीवर्सिटी की बस में यह कोचिंग क्लास शुक्रवार को लगी थी, वह भी जांच के दायरे में है। DCP इन्वेस्टिगेशन गुरमीत सिंह ने कहा कि सरकार ने कोचिंग सेंटर पर पाबंदी इसलिए लगाई है, ताकि स्टूडेंट्स एक जगह इकट्‌ठा न हों। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यह कदम उठाया गया है। इस मामले में जिस बस में यह कोचिंग क्लास लगी थी, उसके बारे में भी डिटेल्स निकलवा रहे हैं। पुलिस देखेगी कि उसके बारे में क्या कार्रवाई की जा सकती है।

इसलिए बस में लगाई कोचिंग क्लास

प्रोफेसर एमपी सिंह का तर्क है कि बच्चों को घर बैठे पढ़ने में बहुत समस्या हो रही है। सरकार कहती है कि बसों में 50% सवारी से काेरोना नहीं फैलता, इसलिए बस में कोचिंग दे रहे थे। 52 सीटों की बस में सिर्फ 10 बच्चे बिठाए थे। उसमें भी उनके घर वालों की सहमति थी। जो बच्चे वहां आए, उन्होंने भी इस बात की शिकायत की कि ऑनलाइन क्लास से उन्हें दिक्कत हाे रही है। इंटरनेट की खराबी से लेकर आंखों की रोशनी भी कम हो रही है। हालांकि पुलिस ने इस मामले में सख्ती दिखाते हुए कार्रवाई कर दी।

खबरें और भी हैं...