• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Punjab Congress In charge Harish Rawat Said There Will Be Discussion About The Organization, Venugopal Will Also Be Present

नवजोत सिद्धू दिल्ली तलब:पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश रावत बोले- संगठन विस्तार को लेकर होगी चर्चा, वेणुगोपाल भी रहेंगे मौजूद

जालंधर2 महीने पहले

पंजाब कांग्रेस में संगठन के विस्तार को लेकर कांग्रेस हाईकमान ने नवजोत सिद्धू को दिल्ली तलब किया है। सिद्धू को 14 अक्टूबर को दिल्ली बुलाया गया है। जहां उनसे पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश रावत और केसी वेणुगोपाल मीटिंग करेंगे। यह मीटिंग पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संगठन विस्तार को लेकर होगी। रावत ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

स्पष्ट तौर पर अब कांग्रेस हाईकमान चुनाव पर फोकस कर रही है। जिसको लेकर अब सिद्धू को स्पष्ट हिदायतें दी जा सकती हैं। वहीं, अब तक संगठन विस्तार न करने पर सिद्धू से जवाब तलब भी हो सकता है।

पंजाब में जनवरी 2020 से भंग कांग्रेस संगठन
पंजाब में कांग्रेस के संगठन के लिहाज से हालात बुरे हैं। जनवरी 2020 में कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब में सभी इकाइयों को भंग कर दिया था। हालांकि सुनील जाखड़ को प्रधान पद संभालते रहने के लिए कहा गया। हालांकि पंजाब में कांग्रेस के भीतर मची कलह को देखते हुए जाखड़ को हटा सिद्धू को प्रधान लगा दिया गया। सिद्धू ने जुलाई महीने में पंजाब कांग्रेस प्रधान का पद संभाला था।

हरीश रावत का ट्वीट
हरीश रावत का ट्वीट

संगठन बनाने की जगह सरकार से टकराते रहे सिद्धू, फिर इस्तीफा दिया
पंजाब में नवजोत सिद्धू को नए सिरे से कांग्रेस का संगठन बनाना था। इससे पहले ही सिद्धू संगठन को छोड़ सरकार से टकराने लगे। पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह से टकराव रहा। इसके बाद चरणजीत चन्नी सीएम बने तो डीजीपी और एडवोकेट जनरल की नियुक्ति को लेकर सीधा मोर्चा खोल दिया। यहां तक कि सिद्धू ने इस्तीफा भी दे दिया।

सिद्धू के साथ नवनियुक्त जनरल सेक्रेटरी योगेंद्रपाल ढींगरा और कैशियर गुलजार इंदर चहल भी इस्तीफा दे गए। पंजाब में संगठन के नाम पर अब 4 वर्किंग प्रधान और एक महासचिव परगट सिंह बचे हुए हैं। इनमें भी वर्किंग प्रधान संगत सिंह गिलजियां और परगट मंत्री बन चुके हैं।

सिद्धू ने सिर्फ सोशल मीडिया पर दिया इस्तीफा!:पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश रावत बोले- मैंने तो नहीं देखा इस्तीफा, सिर्फ खबरों में ही पढ़ा; सिद्धू कर रहे प्रधान की तरह काम

बिस्तर लगाने की बात की थी, कलह के बाद कांग्रेस भवन नहीं गए
कैप्टन अमरिंदर सिंह के विरोध के बावजूद पंजाब कांग्रेस के प्रधान पद पर ताजपोशी से सिद्धू पूरे जोश में दिखे। उन्होंने कहा कि अब सिद्धू चंडीगढ़ स्थित कांग्रेस भवन में बिस्तर लगाएंगे। हालांकि ऐसा हो न सका। कैप्टन अमरिंदर की विदाई के बाद उनके नए सीएम चरणजीत चन्नी से भी रिश्ते बिगड़ गए। तब से सिद्धू कांग्रेस भवन नहीं गए। हाल ही में लखीमपुर खीरी के लिए रोष मार्च निकाला तो सिद्धू ने तैयारियों के लिए मीटिंग भी पंजाब भवन में की।

खबरें और भी हैं...