जालंधर में कच्चे शिक्षा कर्मियों का प्रदर्शन:हाथों में 36 लाख इनाम वाला पोस्टर लेकर काटा शहर का चक्कर, सरकार पर मुर्ख बनाने के आरोप

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधायक के पीए को ज्ञापन देते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
विधायक के पीए को ज्ञापन देते कर्मचारी।

पंजाब के जालंधर में शिक्षा विभाग में ठेके पर काम करने वाले कच्चे मुलाजिमों ने बुधवार को शहर में इनामी स्कीम के पोस्टर लेकर एक अनूठा प्रदर्शन किया। इन्होंने शहर का चक्कर लगाया और इसके बाद विधायक राजेंद्र बेरी के घर जा पहुंचे। यहां विधायक की गैरमौजूदगी में उनके पीए को ज्ञापन साैंपा।

साथ ही 36000 मुलाजिमों को ढूंढ कर लाओ, 3600000 का इनाम पाओ वाला पोस्टर भी विधायक के पीए को थमाया। प्रदर्शन के दौरान कर्मचारियों ने हाथों में पकड़े पोस्टरो में लिखवाया हुआ था कि यह स्कीम कांग्रेस के मंत्रियों, विधायकों और सभी कार्यकर्ताओं के लिए है।

पोस्टर लेकर प्रदर्शन करते कच्चे कर्मचारी।
पोस्टर लेकर प्रदर्शन करते कच्चे कर्मचारी।

सीएम मूर्ख बना रहे हैं

सर्व शिक्षा अभियान नॉन टीचिंग स्टाफ यूनियन के प्रधान आशीष जुलाहा ने कहा कि 36 हजार कर्मचारियों को रेगुलर करने की घोषणा के बड़े-बड़े होर्डिंग पूरे पंजाब में लगवा कर राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी वाहवाही लूट रहे हैं। वे यह नहीं बता पा रहे हैं कि इन 36 हजार कर्मचारियों की लिस्ट कहां है। मुख्यमंत्री झूठ बोल कर और झूठी घोषणाएं करके लोगों के साथ कर्मचारियों को मूर्ख बना रहे हैं।

कर्मचारी नेता ने कहा कि यदि सच में चन्नी सरकार 36 हजार कच्चे कर्मचारियों को रेगुलर करने जा रही है तो वह इसका सारा डाटा कर्मचारियों को उपलब्ध करवाए। विभागों के पास कर्मचारियों को रेगुलर करने के लिए अभी तक कोई आदेश नहीं आए हैं और न ही विभागों से सरकार ने नियमित होने वाले कर्मचारियों की कोई सूचियां या रिकॉर्ड ही मांगा है।

विधायक बोले- शीघ्र आएंगे आदेश

कर्मचारी जालंधर के विधायक राजेंद्र बेरी के घर पहुंचे तो वहां पर उनकी अनुपस्थिति में उनके पीए ने ज्ञापन लेकर विधायक से फोन पर कर्मचारियों की बात करवाई। कर्मचारियों ने विधायक से मांग की कि वह उन 36000 कर्मचारियों की लिस्ट दें, जिन्हें सरकार पक्का करने जा रही है। विधायक ने कर्मचारियों की मांगों पर आश्वासन दिया कि सरकार उनको शीघ्र पक्का करेगी। जल्द ही आदेश आएंगे।

खबरें और भी हैं...