पंजाब में NRHM वर्करों ने रोके कई रास्ते:एसोसिएशन का आरोप-पक्का करने की बजाय सरकार ने नौकरी से निकालने की धमकी दी, हड़ताल जारी रहेगी

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के गुरदासपुर में नेशनल रुलर हेल्थ मिशन (NRHM) के तहत काम करने वाले नर्सिंग स्टाफ और अन्य कर्मचारियों ने मंगलवार को दीनानगर में पठानकोट-अमृतसर को जाम कर दिया। जाम की वजह से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लगी हैं और लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी।

कर्मचारियों का कहना है कि सरकार उनके साथ वादा खिलाफी कर रही है। उन्हें साढ़े 4 साल से पक्का करने का आश्वासन दिया जा रहा है। अभी तक उन्हें पक्का नहीं किया गया है, बल्कि उल्टा धमकियां दी जा रही हैं की चुपचाप हड़ताल वापस लेकर काम करो, नहीं तो उनके खिलाफ केस भी दर्ज करेंगे और नौकरी से भी निकाल देंगे।

रोड जाम कर रहे कर्मियों को समझाते पुलिस कर्मी।
रोड जाम कर रहे कर्मियों को समझाते पुलिस कर्मी।

कर्मचारियों का आरोप है की सरकार उनकी आवाज को दबाना चाहती है लेकिन वह झुकेंगे नहीं और अपना हक लेकर ही रहेंगे। नर्सिंग स्टाफ एसोसिएशन की राज्य उपाध्यक्ष सुरेंद्र कौर ने कहा कि पूरे पंजाब में एनआरएचएम के तहत काम करने वाले सभी मुलाजिम आज हड़ताल पर हैं। सरकार के कान खोलने के लिए सड़कों को जाम किया जा रहा है।

सुरेंद्र कौर ने कहा कि यह वही कर्मचारी हैं जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान अपनी जान की परवाह किए बिना लोगों की मदद की। सरकार उन्हें रिवॉर्ड देने की बजाय धमकी दे रही है। पिछले दिनों मुख्यमंत्री ने उन्हें मीटिंग के लिए बुलाया था, लेकिन कोई हल निकालने की वजह उन्हें वहां पर धमकाया गया।

उनको कहा गया कि हड़ताल वापस लोगे अन्यथा आप के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। टर्मिनेट कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि एनआरएचएम के कर्मचारी अपना हक मिलने तक हड़ताल जारी रखेंगे और प्रदेश भर में रैलियां करेंगे।

खबरें और भी हैं...