युवाओं के धरने से थम गया जालंधर:पुलिस भर्ती में धांधली के आरोप लगा बीएसएफ चौक पर बैठे, जाम में फंसे वाहन, बच्चे परेशान

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में पुलिस भर्ती में धांधली को लेकर युवाओं में रोष बढ़ता जा रहा है। प्रदेश भर में धरने प्रदर्शन का दौर शुरू हो गया है। गुरुवार को जालंधर में युवाओं ने पुलिस की मेरिट लिस्ट में धांधली का आरोप लगाते हुए बीएसएफ चौक के पास बीच सड़क पर धरना लगा दिया। शहर में जाम की स्थिति रही।

हाईवे पर भी रामामंडी तक सबकुछ जाम हो गया है। बस से स्टैंड से आने वाली बसें और अन्य वाहन सड़कों पर कतारों में खड़े रहे। लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्कूल से लौट रहे बच्चों की बसें भी जाम में फंसी थी। पुलिस ने युवाओं को समझाने में लगी है और डीसी से उनकी बैठक तय की गई है।

युवा बोले-हेराफेरी हुई

पंजाब में कांस्टेबल पद की भर्ती में ग्राउंड टेस्ट से पहले सितंबर महीने में लिखित परीक्षा ली गई थी। परीक्षा में मेरिट में आने वाले अभ्यार्थियों को ही ग्राउंड टेस्ट के लिए बुलाया जाना था। अब नतीजे घोषित होने के बाद राज्यभर में धरने प्रदर्शनों का दौर शुरू हो गया है। पुलिस में भर्ती के लिए हुए टेस्ट की जो मेरिट जारी की गई है युवाओं का कहना है कि उसमें जमकर हेराफेरी हुई है।

जालंधर में बीएसएफ चौक पर धरने पर बैठे युवा
जालंधर में बीएसएफ चौक पर धरने पर बैठे युवा

कम अंक वाले बुलाए

अनुसूचित जाति, जनजाति के आरक्षण इत्यादि का कोई ध्यान नहीं रखा गया। टेस्ट में ज्यादा नंबर लेने वालों को भी मेरिट सूची से बाहर कर दिया गया है। कम अंक लेने वालों को ग्राउंड टेस्ट के लिए काल लैटर भेज दिए गए हैं। अभ्यार्थियों का कहना है कि सरकार ने भर्ती से पारदर्शिता का दावा किया था, जो कि फेल हो गया है। अभ्यार्थियों का कहना है कि पुलिस में ऊंची पहुंच वालों को ही भर्ती किया जा रहा है। जब वे मेरिट लिस्ट में हुई हेराफेरी को लेकर अधिकारियों के पास जाते हैं तो उनकी कोई नहीं सुनता। अब सड़कें जाम करने के अलावा कोई चारा नहीं है।

जाम में फंसे बच्चे और मरीज

बीएसएफ चौक पर धरने के बाद लगे जाम का असर दूर तक दिखाई दिया। वाहनों की लंबी लाइनों में जहां मरीजों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। वहीं पर स्कूली बच्चों के वाहन भी जाम में फंस गए। स्कूल वैन चलाने वाले सुरजीत सिंह वे बताया कि आज बच्चों की स्कूल में परीक्षा थी लेकिन धरने पर बैठे युवाओं ने उन्हें भी नहीं निकलने दिया। थक हार कर उन्होंने बच्चों के अभिभावकों को फोन कर दिए हैं कि वह अपने बच्चों को यहां से आकर ले जाएं।

पुलिस बोली-डीसी से बैठक होगी

मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने कहा कि जाम को खुलवाने के लिए युवाओं को मनाने के प्रयास हो रहे हैं। डीसी जालंधर से प्रदर्शन कर रहे युवकों की मीटिंग की व्यवस्था की है। जाम की स्थिति से निपटने के लिए शहर का ट्रैफिक डायवर्ट किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...