पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पत्रकारों की जासूसी का विरोध:जालंधर में पंजाब प्रेस क्लब ने निकाला रोष मार्च, पेगासस मामले की सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच की मांग

जालंधर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर में प्रदर्शन करते पंजाब प्रेस क्लब के सदस्य। - Dainik Bhaskar
जालंधर में प्रदर्शन करते पंजाब प्रेस क्लब के सदस्य।

पेगासस स्पाइवेयर सॉफ्टवेयर से पत्रकारों समेत 300 भारतीयों की जासूसी के विरोध में जालंधर के पंजाब प्रेस क्लब ने रोष मार्च निकाला। उन्होंने मांग की कि पेगासस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के वर्तमान जज से कराई जाए। क्लब ने इसे लोकतंत्र व संविधान की भावना के खिलाफ बताया। उन्होंने मांग की कि केंद्र सरकार जल्द इस मामले में अपनी स्थिति सार्वजनिक तौर पर स्पष्ट करे।

प्राइवेसी के अधिकार व प्रेस की आजादी पर हमला

क्लब के प्रधान डॉ. लखविंदर सिंह जौहल, सतनाम सिंह माणक, मनदीप शर्मा, मलकीत बराड़ व पाल सिंह नौली की अगुवाई में रोष मार्च प्रेस क्लब से शास्त्री चौक तक निकाला गया। केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए उन्होंने कहा कि यह लोगों की प्राइवेसी के अधिकार व प्रेस की आजादी पर हमला है।

केंद्र जांच कराए, किसके इशारे पर हुआ घिनौना काम

क्लब प्रधान लखविंदर सिंह जौहल ने कहा कि पत्रकारों की जासूसी करवाना निंदनीय कार्य है। इस गंभीर मामले की जांच होनी चाहिए। इजराइल की कंपनी के खरीदे इस सॉफ्टवेयर के बारे में केंद्र सरकार अपनी स्थिति स्पष्ट कर इसकी जांच कराए कि यह घिनौना काम किसके इशारे पर हुआ है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से असहमति रखने वाले पत्रकारों को किसी न किसी तरीके से परेशान किया जा रहा है। उन्होंने एक पंजाबी दैनिक के संपादक जसपाल हेरां की जासूसी की भी निंदा की।

खबरें और भी हैं...