इंटरनेशनल ओलिंपिक डे विशेष:ओलिंपिक में 21 साल बाद भारतीय हॉकी टीम की कप्तानी पंजाब को

जालंधर4 महीने पहलेलेखक: वारिस मलिक
  • कॉपी लिंक
  • इस बार हमारे 13 खिलाड़ी टाेक्याे ओलिंपिक में दिखाएंगे दम, सभी ट्रायल होने पर कई और खिलाड़ी भी जा सकते हैं

हॉकी का मक्का कहे जाने वाले पंजाब खासकर जालंधर के लिए मंगलवार का दिन बेहद खास रहा। गांव मिट्ठापुर के मनप्रीत सिंह कोरियन को हॉकी टीम की कप्तानी दी गई है। टोक्यो ओलिंपिक में 21 साल बाद मनप्रीत के रूप में हॉकी टीम का कोई कप्तान पंजाब का मिला है। हॉकी इंडिया ने दोपहर बाद आधिकारिक रूप से इसकी घोषणा की। मनप्रीत से पहले साल 2000 सिडनी ओलिंपिक में रमनदीप सिंह ग्रेवाल पंजाबी खिलाड़ी थे, जिन्होंने हॉकी टीम की कप्तानी की थी।

हालांकि, भारतीय हॉकी टीम में शुरू से ही पंजाब के खिलाड़ियों का दबदबा रहा है। इस बार भी 16 सदस्यीय टीम में 8 खिलाड़ी पंजाब के हैं, जिसमें 3 खिलाड़ी जालंधर के हैं। मनप्रीत पंजाब पुलिस में डीएसपी हैं। मनप्रीत सिंह आठवें पंजाबी खिलाड़ी हैं जिन्होंने ओलिंपिक में भारतीय हॉकी टीम की कप्तानी करेंगे। इसी टीम में उप-कप्तान अमृतसर के हरमनप्रीत रहेंगे जो डिफेंडर पोजीशन पर खेलते हैं।

ये हैं हमारे 13 खिलाड़ी
टोक्यो ओलिंपिक के लिए चयनित 13 पंजाबी खिलाड़ियों में हॉकी कैप्टन मनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह, हार्दिक सिंह, हरमनप्रीत सिंह, रुपिंदर पाल, शमशेर, दिलप्रीत सिंह, गुरजंट सिंह और एथलेटिक्स में तेजिंदर तूर, कमलप्रीत कौर, महिला हॉकी में गुरजीत कौर, बॉक्सिंग में सिमरन, शूटिंग में अंजुम मोदगिल शामिल हैं। ट्रायल के बाद कई और खिलाड़ियों के चयन की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...