• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Race For New DGP Started In Punjab, 4 Officers Contenders In Newly Formed Channi Government; The Names Of Chattopadhyay And Sahota Front Runners, Bhavra, Chaudhary Are Also In Discussion.

पंजाब में शुरू हुई नए DGP की रेस:चन्नी सरकार में 4 अफसर दावेदार; सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय और इकबाल प्रीत सिंह सहोता फ्रंट रनर; भवरा-चौधरी के नाम भी चर्चा में

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में मुख्यमंत्री बदलते ही नए DGP के लिए भी रेस शुरू हो गई है। नया CM बनने के बाद चरणजीत सिंह चन्नी ने अभी कोई फैसला नहीं लिया है। हालांकि दिनकर गुप्ता की विदाई तय मानी जा रही है। लेकिन इस दौड़ में भी 5 अफसर दावेदार हैं। सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय और इकबाल प्रीत सिंह सहोता फ्रंट रनर माने जा रहे हैं। फिलहाल सरकार नियुक्ति से पहले लीगल राय ले रही है। यह काम जल्द पूरा हो सकता है, क्योंकि सरकार आगे बेअदबी और ड्रग्स केस में बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है।

यह अफसर हैं दौड़ में

  • सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय 1984 बैच के IPS अफसर हैं। उनकी सेवा अभी 6 महीने से ज्यादा की रहती है। वह सोमवार को CM चरणजीत चन्नी से मुलाकात भी कर चुके हैं, जिसके बाद उनके नाम की चर्चा तेज हो गई है। उन्हें नई लीडरशिप का करीबी भी माना जाता है।
  • इकबाल प्रीत सहोता 1988 बैच के IPS अफसर हैं। उनका सेवाकाल भी 6 महीने से ज्यादा बचा है। पंजाब सरकार के नए ग्रुप में उनका ज्यादा विरोध नहीं है। उनकी सेवा में कुल 11 महीने बचे हैं। वह अभी तक अविवादित अफसर रहे हैं। उन्हें भी मजबूत दावेदार माना जा रहा है।
  • वीके भवरा 1987 बैच के IPS अफसर हैं। उनकी सेवा में अभी 9 महीने का वक्त बचा है। उनके नाम पर भी चर्चा हो रही है।
  • रोहित चौधरी 1988 बैच के IPS अफसर हैं। उनकी सेवा में 7 महीने का वक्त बचा है। उनका नाम भी चर्चा में है।
पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ DGP दिनकर गुप्ता।
पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ DGP दिनकर गुप्ता।

नए DGP के चयन में इसलिए देरी
सूत्रों के मुताबिक, नई पंजाब सरकार लीगल राय ले रही है कि क्या वह सीधे DGP लगा दें या फिर UPSC के जरिए चयन किया जाए। हालांकि सरकार पश्चिम बंगाल की तरह भी फैसला ले सकती है, जिसमें मदन मालवीय को UPSC से नाम क्लियर होने तक कार्यकारी DGP लगा दिया गया था। बंगाल सरकार सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुंच गई थी कि DGP लगाने में UPSC को शामिल करने से छूट दी जाए।

मुस्तफा भी बने दिनकर की मुश्किल
मौजूदा DGP दिनकर गुप्ता कैप्टन के करीबी रहे हैं। यही वजह है कि वह DGP तो पत्नी विनी महाजन चीफ सेक्रेटरी हैं। उस वक्त IPS अफसर मुहम्मद मुस्तफा भी दावेदार थे, लेकिन कैप्टन ने दिनकर को बना दिया। इस वक्त मुस्तफा सिद्धू के रणनीतिक सलाहकार हैं। जिस लिहाज से सिद्धू का दबदबा नई पंजाब सरकार में दिख रहा है। उस पर मुस्तफा का असर भी होना भी तय है। ऐसे में दिनकर गुप्ता का पद पर रहना मुश्किल माना जा रहा है। DGP के तौर पर दिनकर गुप्ता 2 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। उनकी रिटायरमेंट 2024 में होनी है।

खबरें और भी हैं...