पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

साडा मास्क वाला चालान कट देओ:आरसी-हेलमेट का चालान भुगतने में लग रहे 2 महीने, मास्क का तत्काल, 36 हजार लोगों ने मौके पर दिए 1.75 करोड़ रुपए

जालंधर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पठानकोट चौक में बिना हेलमेट वालों पर कार्रवाई करती पुलिस।
  • आरटीओ के चक्कर से बचने के लिए ट्रैफिक कर्मी ही बता रहे कोविड-19 के चालान का रास्ता

सर जान दओ, आरटीओ ऑफिस दा चालान न कटेयो, साडा मास्क वाला चालान कट्ट देयो... साडे कोलों कोट कचहरियां दे चक्कर नहीं कट्टे जांदे। ये शब्द उन लोगों के हैं जो नाके पर बिना हेलमेट के पकड़े जाते हैं। गौर हो कि हेलमेट न पहने वाले चालानों का आंकड़ा अप्रैल से लेकर अगस्त तक 20271 है, तो वहीं बिना मास्क घूमने वालों के चालानों का आंकड़ा 36349 है। हेलमेट के चालानों की संख्या इतनी कम और बिना मास्क वालों के चालानों की संख्या इसलिए ज्यादा है। क्योंकि लोग कोर्ट कचहरी के चक्कर नहीं लगाना चाहते और कोविड-19 के तहत बिना मास्क घूमने वाला चालान करवा रहे हैं। अगर किसी ने सीट बेल्ट नहीं लगाई, ओवरलोड है, या ट्रिपलिंग कर रहा है तो उसका चालान कोविड-19 बुक में से काट दिया जाता है।

हेलमेट का चालान 1000 रुपए का है तो बिना मास्क घूमने का जुर्माना 500 रुपए है। 1 अप्रैल से लेकर 31 अगस्त तक 32961 ट्रैफिक चालान काटे गए हैं। सिर्फ हेलमेट का देखें तो 2.02 करोड़ रुपए जुर्माना किया गया है। वहीं बिना मास्क वाले 36349 लोगों से 1.75 करोड़ रुपए के करीब जुर्माना वसूला गया है। वहीं 454 लोगों ने सिर्फ सार्वजनिक स्थानों पर थूकने के लिए 11.16 लाख रुपए भरे हैं। ट्रैफिक मुलाजिमों ने कहा कि ऑन द स्पॉट चालान करना बेहतर है। चालानों की संख्या दिन ब दिन बढ़ रही है और आरटीओ ऑफिस में चालान पहुंचने में देरी हो रही है। नाके पर जब किसी कार चालक व मोटर साइकल वाले को रोकते हैं तो वे उसका चालान आरटीओ ऑफिस का ही काटा जाता है, लेकिन कुछ लोग ये कह देते हैं कि ऑन द स्पॉट चालान कर दें ताकि वे सरकारी दफ्तरों में चक्कर न लगा सके। नियमों के मुताबिक ही काम किया जा रहा है, लेकिन बाहरी वाहन चालक खुद कहते हैं कि उनका मास्क का चालान कर दिया जाए ताकि उन्हें चालान भुगतने के लिए दूसरे शहर से न आना पड़े।

5 महीने में काटे गए चालान का आंकड़ा

5 महीनों में 32961 ट्रैफिक चालान किए, जिसमें हेलमेट के ही सिर्फ 20271 हैं, जिसका जुर्माना 2.02 करोड़ बनता है। वहीं, बिना मास्क वाले 36349 लोगों से 1.71 करोड़ रुपए जुर्माना वसूला जा चुका है।

दो-दो महीने से चालान नहीं पहुंच रहे आरटीओ ऑफिस
पठानकोट चौक में नाके पर युवक ने अपना मास्क का चालान कटवाया। जब उससे पूछा गया कि उसने सीट बेल्ट नहीं लगाई तो उसने कहा कि उसका पहले एक चालान हुआ पड़ा है और वे दो बार आरटीओ ऑफिस भी गए, लेकिन चालान अभी तक नहीं पहुंचा है। इस कारण उन्होंने अपना चालान मास्क वाला कटवाया। अगर आरटीओ आफिस में चालान समय पर पहुंच जाएं तो नाके पर पैसे देने की जरूरत ही न पड़े, लेकिन सब सिस्टम फेल साबित हो रहे हैं।
रेड लाइट जंप की जगह पर कटवाया मास्क वाला चालान
बीएमसी चौक में रेड लाइट जंप करने वालों को मुलाजिमों ने रोका और आरटीओ ऑफिस का चालान भरने लगे। तभी युवक ने कहा कि सर उनका कोविड-19 की बुक में से चालान कर दें। क्योंकि दफ्तरों के चक्कर लगाने के लिए उनके पास समय नहीं है। मिन्नतें करने के बाद युवक का मास्क वाला चालान किया गया। पुलिस मुलाजिमों ने कहा कि लोग खुद अवेयर हों और ट्रैफिक नियमों की पालना करें ताकि चालान काटने की नौबत ही न आए।

पुलिस की ऐसी नर्मी... दो बार कटवाया मास्क वाला चालान

ऑन द स्पॉट करने को लेकर पुलिस मुलाजिम भी नर्मी दिखा रहे हैं। कोविड-19 के तहत लोग पहले से ही परेशान चल रहे हैं। माॅडल टाउन निवासी सूरज शर्मा ने कहा कि उनका दो बार बिना मास्क वाला चालान कट चुका है। पहले वे छोटा हाथी से कहीं सामान छोड़ने के लिए जा रहे थे तो पुलिस ने बीएसएफ चौक में रोक लिया। सीट बेल्ट नहीं लगी हुई थी। अगर आरटीओ ऑफिस का चालान कटता तो 1000 रुपए जुर्माना अदा करना पड़ा। इसलिए पुलिस कर्मियों की मिन्नतें करके ऑन द स्पॉट चालान कटवा लिया।

दूसरी बार वे अपने दोस्त तो लेकर बस स्टैंड की तरफ जा रहे थे। हेलमेट का चालान आरटीओ ऑफिस का काटा जा रहा था। उस समय भी उन्होंने बिना मास्क वाला चालान कटवाया। पुलिस इस बात को लेकर नर्मी दिखा रही है, क्योंकि इस समय काम धंधा न के बराबर है और लोगों के कहने पर उनका सहयोग करके चालान काट रहे हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें