पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Roadways Conductor Was Beaten Up In Jalandhar, Bus Was Vandalized If The Ticket Of Women Was Cut For Not Showing The Original Aadhar Card

पंजाब सरकार की मुफ्त बस सफर स्कीम का झगड़ा:ओरिजिनल आधार कार्ड न दिखाने पर महिलाओं का टिकट काटा तो जालंधर में रोडवेज कंडक्टर को पीटा, बस में की तोड़फोड़

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ड्राइवर ने बस भगाकर कंडक्टर की जान बचाई। - Dainik Bhaskar
ड्राइवर ने बस भगाकर कंडक्टर की जान बचाई।

पंजाब सरकार की सरकारी बसों में मुफ्त सफर स्कीम पंजाब रोडवेज के कंडक्टर पर भारी पड़ गई। ओरिजिनल आधार कार्ड न दिखाने पर कंडक्टर ने एक महिला, युवती व 10 साल की बच्ची का टिकट काट दिया। इसके बाद उनकी बहस हुई और रास्ते में उतर गई। जब बस वाला वापस आया तो बस सवार युवती व महिला के जानकारों ने कंडक्टर को जमकर पीटा। बस से भी तोड़फोड़ की गई। ड्राइवर ने बस भगाकर किसी तरह खुद को बचाया। इसकी शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने उक्त युवती व महिला के अलावा 6 अज्ञात आरोपियों पर IPC की धारा 323, 324, 341, 186, 427, 148, 149, 120-B के तहत केस दर्ज कर लिया है।

बस में बैठने पर आधार दिखाने को कहा

मोगा के गांव जीदड़ा के गुरप्रीत सिंह ने बताया कि वह पंजाब रोडवेज की बस (PB10CG9049) पर कंडक्टर है। उनकी बस जगराओं से वाया जालंधर होकर नकोदर जाती है। 16 जून को दोपहर 12.05 बजे वह नकोदर से जगराओं की तरफ चल पड़े। नकोदर से बस में एक महिला व एक युवती 10 साल की लड़की के साथ बस में चढ़े। पंजाब सरकार की हिदायतों के मुताबिक इनकी टिकट नहीं लगती लेकिन आधार कार्ड दिखाना पड़ता है। इसलिए उसने अपना आधार कार्ड दिखाने को कहा।

ओरिजनल आधार मांगा तो की बहस, कंडक्टर ने काटी टिकट

उनमें एक महितपुर के उधोवाल की अमनप्रीत कौर और दूसरी बाजवा कलां शाहकोट की राजबीर कौर थी। छोटी लड़की के पास आधार कार्ड नहीं था। यह देख उन्होंने कहा कि सभी अपना ओरिजिनल आधार कार्ड दिखाओ। आधार कार्ड की फोटो कॉपी पर बस की टिकट माफ नहीं हो सकती। इस वजह से उक्त युवती व महिला ने उसके साथ बहस करनी शुरू कर दी। जिसके बाद उसने तीनों की महितपुर तक की टिकट काट दी।

महिला बस की फोटो खींच ले गई, रास्ते में युवकों ने रुकवाई बस

जब बस महितपुर बस स्टैंड पहुंची तो वह तीनों वहीं उतर गईं और बस की फोटो खींच ली। इसके बाद दूसरा चक्कर लगाने के लिए दोपहर 1.45 बजे वह जगराओं से चले। जब बस 2.45 बजे गांव मुहेमा के आखिरी अड्‌डे पर पहुंचे तो वहां एक महिला व तीन लड़के खड़े थे। उन्होंने बस को रुकने का इशारा किया। सवारी समझकर बस चला रहे ड्राइवर जसवीर सिंह ने बस रोक दी।

बस रुकते ही तलवार व दातर से किया हमला, ड्राइवर ने बस भगाई

बस के रुकते ही वह युवक अंदर चढ़ गए और दातर व तलवारों से कंडक्टर पर हमला कर दिया। थोड़ी ही देर में तीन और युवक वहां पहुंच गए। उन्होंने भी बेसबॉल व डंडे से बस की तोड़फोड़ शुरू कर दी। यह देख जसवीर सिंह ने बस भगा ली। जिसके बाद वह आरोपी छलांग लगाकर उतर गए। कंडक्टर ने आरोप लगाया कि उनके साथ उन्हीं महिलाओं के टिकट काटने की वजह से मारपीट की गई, जिनके पास ओरिजिनल आधार कार्ड नहीं था।

खबरें और भी हैं...