पेनल्टी का प्रावधान:साईं ओवरसीज का 36 घंटे सर्च के बाद कारोबारी रिकाॅर्ड सीज

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फर्म की जो छिपी आमदनी का पता चलेगा, इस पर 100 फीसदी तक पेनल्टी का प्रावधान

इमीग्रेशन सेवाएं देने वाली साईं ओवरसीज के 5 प्रतिष्ठानों का रिकाॅर्ड इनकम टैक्स विभाग के इनवेस्टीगेशन विंग ने सीज कर दिया है। इसमें आमदनी, कारोबार की जानकारी मिल सकती है। अब सारा रिकाॅर्ड स्टडी करने के बाद फर्म को टैक्स डिमांड का नोटिस भेजा जाएगा। सर्च की इस कार्रवाई को इनकम टैक्स विभाग के इनवेस्टीगेशन विंग के प्रिंसिपल कमिश्नर अवधेश मिश्रा, जाॅइंट कमिश्नर याजेश गर्ग और 5 शहरों से आईं टीमों ने अंजाम दिया है।

सर्च करीब 36 घंटे चली। अभी सरकार ने आदेश दे रखे हैं कि जब किसी फर्म में इनकम टैक्स की सर्च होती है तो फाॅरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट के तहत प्रवर्तन निदेशालय भी अपने स्तर पर जांच कर सकता है। ऐसे में जो टैक्स डिमांड का नोटिस फर्म को मिलेगा, उसकी जवाबदेही भी आसान नहीं है। फर्म की जो छिपी आमदनी का पता चलेगा, इस पर 100 फीसदी तक पेनल्टी का प्रावधान है।

खबरें और भी हैं...