पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

करतारपुर थाने का मामला:स्नैचर ने हवालात में किया सुसाइड, एसएचओ लाइन हाजिर और तीन पुलिस मुलाजिम सस्पेंड

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
करतारपुर थाने के बाहर प्रदर्शन करते जतिंदर के परिजन। - Dainik Bhaskar
करतारपुर थाने के बाहर प्रदर्शन करते जतिंदर के परिजन।
  • कंबल फाड़कर रस्सी बनाई, लगा लिया फंदा

करतारपुर थाने की हवालात में बंद स्नैचिंग के आराेपी 23 साल के जतिंदर सिंह उर्फ काका ने कंबल की पट्टी से फंदा बनाकर हवालात में सुसाइड कर लिया। कपूरथला के गांव मुद्दोवाल के रहने वाले जतिंदर को पुलिस ने शनिवार सुबह 6.30 बजे उसके गांव से अरेस्ट किया था।

थाने के एडिशनल एसएचओ एसआई आत्मजीत सिंह को लाइन हाजिर और नाइट मुंशी वीरदविंदर सिंह, ड्यूटी अफसर एएसआई राकेश सिंह और संत्री बलविंदर सिंह को सस्पेंड किया गया है। जतिंदर काे रविवार काे गुरदासपुर जेल ले जाना था। मामले में जुडीशियल इंक्वायरी मार्क की गई है। मेडिकल में पता चला कि जतिंदर काला पीलिया से पीड़ित था।

जतिंदर ने रात 12 बजे के बाद किया सुसाइड

रात 11.30 बजे तक सब ठीक था। 12 बजे संत्री बलविंदर सिंह अपनी संत्री की पोस्ट छोड़ कर मुंशी के कमरे में गया। रात 1 बजे के करीब सबसे पहले संत्री ने जतिंदर को फंदे पर देखा। करतारपुर रेंज के डीएसपी सुखपाल सिंह रात 2 बजे मौके पहुंचे।

एडिशनल एसएचओ इंस्पेक्टर राम सिंह ने बताया कि सीसीटीवी में नजर आ रहा था कि सुसाइड करने से पहले जतिंदर ने 45 मिनट लगाकर हवालात में पड़े कंबल के साइडों पर लगी पट्टी काे उखाड़ा। इसके बाद उसने खुदकुशी कर ली। जतिंदर ने 12.30 बजे पहला प्रयास किया। फिर दोबारा पट्टी बांधी तो एक पैर नीचे लग रहा था। फिर उसके बाद जतिंदर ने लैस को थोड़ा ऊपर बांधा और सुसाइड कर लिया।

रात 7 बजे उठाया धरना आज फिर करेंगे प्रदर्शन
आठ घंटे धरना प्रदर्शन के बाद शाम 7 बजे थाने के बाहर से धरना उठाया गया। परिवार ने पुलिस को चेतावनी दी कि सुबह 10 बजे फिर से वह थाने के बाहर प्रदर्शन करेंगे। जतिंदर के परिवार वालों ने बताया कि जतिंदर का भाई भी स्नैचिंग के मामले में गुरदासपुर जेल में बंद है। परिवार मजदूरी करता है। परिजनों ने पुलिस से जतिंदर के भाई काला को रिहा करने की मांग की है।

वहीं, परिवार ने पुलिस पर जतिंदर को टॉर्चर करने का भी आरोप लगाया। गौरतलब है कि जतिंदर के परिजन जब थाने पहुंचे तो शव पोस्टमार्ट के लिए अस्पताल भेजा जा चुका था। जतिंदर के पिता सिविल अस्पताल की मॉर्चरी पहुंचे। जहां डॉक्टरों के पैनल ने वीडियोग्राफी के बीच में पोस्टमार्टम किया।

खबरें और भी हैं...