पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Soldiers Posted In Kargil Have Taken Army's Deadly Training, Both Were Also Stationed In Pathankot, Sent Mobile For Forensic Examination

पाक जासूसी का मामला:कारगिल में तैनात सैनिक ले चुका आर्मी की घातक ट्रेनिंग, दोनों पठानकोट में भी रहे तैनात, मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए भेजे

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पाक जासूसी के आरोप में पकड़े गए सैनिकों को लेकर जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
पाक जासूसी के आरोप में पकड़े गए सैनिकों को लेकर जाती पुलिस।

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI को नेशनल सिक्योरिटी व डिफेंस से जुड़े डॉक्यूमेंट्स सप्लाई करने वाले दो सैनिकों के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। कारगिल में एडहॉक क्लर्क तैनात गुरभेज ने आर्मी की 2 महीने की घातक ट्रेनिंग ले रखी है। कुछ समय के लिए दोनों पंजाब में पठानकोट एयरबेस में भी तैनात रह चुके हैं। दोनों ने इनक्रिप्टेड एप के जरिए सीक्रेट दस्तावेज ड्रग स्मगलरों तक पहुंचाए। इसे देखते हुए उनका मोबाइल पुलिस ने जब्त करने के बाद फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिए हैं। इसके जरिए उनके भेजे डॉक्यूमेंट्स की जानकारी व उनके संबंधों की जांच को पुख्ता करने की तैयारी की जा रही है।

सेना ने भी की जांच, जिसके बाद पुलिस को सौंपे

इस मामले में पुलिस ने पहले 70 ग्राम हेरोइन के साथ रणवीर को मेहतपुर से पकड़ा था। फिर उसे दोस्त गोपी को पकड़ा गया। यहीं से जब पुलिस को शक हुआ कि इनके तार सीमा पार से जुड़े हैं और हेरोइन व रुपए के बदले ये लोग नेशनल सिक्योरिटी व डिफेंस से जुड़े दस्तावेज वहां भेज रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने केस में ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट जोड़ा और फिर आर्मी को इसकी सूचना दी। पुलिस के मुताबिक आर्मी के बोर्ड ऑफ ऑफिसर्स ने भी इसकी जांच की और दोनों सैनिकों का काम संदिग्ध पाया। जिसके बाद उन्हें श्रीनगर से पुलिस को सौंप दिया गया। वहां से पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर इन्हें जालंधर लाई।

4 महीने में 900 दस्तावेज सीमा पार पहुंचाए

पुलिस का कहना है कि सिपाही हरप्रीत व गुरभेज ने मिलकर सिर्फ 4 महीने में 900 सीक्रेट दस्तावेज सीमा पार पहुंचा दिए। यह दस्तावेज ड्रग स्मगलरों के अलावा और किस-किस नंबर पर भेजे गए और वो कौन लोग हैं? इसके बारे में भी पड़ताल की जा रही है। मामला नेशनल सिक्योरिटी से जुड़ा होने की वजह से राज्य के साथ केंद्र की खुफिया एजेंसियों ने भी पूरी कार्रवाई पर नजर बना रखी है।

7 दिन के रिमांड पर, पूछताछ कर रहे : SSP

इस बारे में SSP नवीन सिंगला ने कहा कि अदालत से इन दोनों सैनिकों का 7 दिन का पुलिस रिमांड चल रहा है। इस बारे में उनसे पूछताछ की जा रही है। मोबाइलों की फॉरेंसिक जांच कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं...