• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Suddenly The Girl Fainted On The Banks Of The Sutlej River, The Boy And The Girl Who Came Along With Them Ran Away, Died In The Hospital.

संदिग्ध हालात में गई जान:सतलुज दरिया किनारे अचानक बेहोश हुई लड़की; साथ आए लड़का-लड़की वहीं छाेड़ भागे, अस्पताल में दम तोड़ा

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सतलुज दरिया के किनारे यह वाकया मछुआरों ने देखा और पुलिस को शिकायत दी। - Dainik Bhaskar
सतलुज दरिया के किनारे यह वाकया मछुआरों ने देखा और पुलिस को शिकायत दी।

सतलुज दरिया के किनारे एक लड़का-लड़की के साथ आई लड़की अचानक मछलियों को खाना डालते हुए बेहोश होकर गिर पड़ी। यह देख उसके साथ वाले उसे वहीं छोड़ भाग निकले। वहां मछली पकड़ रहे मछुआरे ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन चार दिन बाद उसकी मौत हो गई। पुलिस अब लाश का पोस्टमार्टम करवा रही है ताकि उसकी मौत का कारण पता चल सके। इसके साथ ही उसकी तस्वीर के जरिए लड़की की पहचान की कोशिश की जा रही है। फिलहाल उसे छोड़कर भागे लड़का-लड़की के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है।

मछुआरा बोला- दोपहर 2 बजे देखा था दरिया किनारे
मोहल्ला ऊची घाटी के रहने वाले साबा ने बताया कि वह सतलुज दरिया से मछलियां पकड़ने का काम करता है। 24 अप्रैल को भी वह सुमीर के साथ मछलियां पकड़ने सतलुज दरिया गया था। दोपहर करीब 2 बजे उसने देखा कि दरिया के किनारे दो लड़कियां व एक लड़का मछलियों को दलिया व आटा डाल रहे थे।

थोड़ी देर बाद उन्होंने देखा कि उनमें से एक लड़की बेहोश होकर गिर पड़ी। वहां मौजूद लड़का व लड़की पहले तो उसे हिलाते रहे लेकिन जब वो न उठी तो उसे वहीं छोड़ दोनों वहां से भाग निकले। यह देख वो तुरंत लड़की के पास पहुंचे। लड़की बेहोश पड़ी थी। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। इसके बाद लड़की को उठाकर सिविल अस्पताल फिल्लौर ले आए।

लड़की ने अपना नाम निशा बताया, इसके अलावा पहचान नहीं हुई
अस्पताल में पुलिस भी पहुंच चुकी थी। वहां डॉक्टरों की मौजूदगी में पुलिस ने पूछा तो लड़की ने अपना नाम निशा बताया। वह लड़की को अस्पताल में भर्ती करवाकर लौट आया। इसके बाद लड़की की हालत बिगड़ी तो उसे इलाज के लिए लुधियाना रेफर कर दिया गया। जहां उसकी अब मौत हो गई। उसकी लाश को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल लाया गया। पुलिस से सूचना मिलने के बाद वो अस्पताल पहुंचे तो यह लाश उसी लड़की की थी, जिसे वो बेहोशी की हालत में दरिया के किनारे से उठाकर लाए थे।