• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Air Pollution Of The City Will Be Troublesome For Two Days, Fireworks – The Effect Of Firecrackers Remains Intact; For This Reason, A Sheet Of Smog Remained On The Surface.

परेशानी:सिटी की हवा दूषित दो दिन परेशानी रहेगी, आतिशबाजी- पटाखों का असर बरकरार; इसी कारण स्माॅग की चादर सतह पर बनी हुई

जालंधर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार सुबह हाईवे पर स्मॉग के बीच से गुजरते हुए वाहन। दिवाली की रात आतिशबाजी के धुएं से विजिबिलिटी प्रभावित रही। - Dainik Bhaskar
शनिवार सुबह हाईवे पर स्मॉग के बीच से गुजरते हुए वाहन। दिवाली की रात आतिशबाजी के धुएं से विजिबिलिटी प्रभावित रही।
  • रात को टेंपरेचर में गिरावट हो रही है, जिस कारण प्रदूषण हवा के साथ बहकर आसमान की तरफ नहीं जा पा रहा
  • रात को 14 डिग्री टेंपरेचर तड़के तक रिकाॅर्ड हुआ

सिटी में प्रति घनमीटर हवा में अभी भी 157 प्रतिशत प्रदूषण के तत्व हैं, जिनमें प्रमुख तौर पर आतिशबाजी व पटाकों का धुआं है। अगर बारिश हो जाए तो ये सारा प्रदूषण धुल जाएगा, लेकिन फिलहाल 48 घंटे प्रदूषण तंग करेगा। रात को टेंपरेचर में गिरावट हो रही है, जिस कारण प्रदूषण हवा के साथ बहकर आसमान की तरफ नहीं जा पा रहा।

इसी कारण स्माॅग की चादर सतह पर बनी हुई है। मौसम विभाग के चंडीगढ़ केंद्र के अनुसार जालंधर में दिन में ओवरआल टेंपरेचर 27 डिग्री रहा है, जोकि नवंबर के नार्मल टेंपरेचर से 4 डिग्री कम है। रात को 14 डिग्री टेंपरेचर तड़के तक रिकाॅर्ड हुआ है। मौसम केंद्र के अनुसार अभी रात को ज्यादा सर्दी महसूस होगी। वहीं, हवा के प्रदूषण को पाॅल्यूशन कंट्रोल बोर्ड का माॅनिटरिंग स्टेशन रिकाॅर्ड करता है। ये स्टेशन सर्किट हाउस में संचालित है, जिसमें बीते 48 घंटे में हवा की क्वालिटी की परख करके रिपोर्ट दी जाती है। दिवाली की रात जो आतिशबाजी की गई, उसका धुआं अभी 2-3 दिन परेशान करता रहेगा। अभी हवाएं स्थिर हैं, जिस कारण इस प्रक्रिया में देरी हो रही है।

खबरें और भी हैं...