पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Bank Rejected The Application, Sent A Fake Credit Card, Took The Original Information For Verification And Took 40 Thousand Out Of The Account.

जालंधर में ठगी का नया तरीका:बैंक ने रिजेक्ट किया आवेदन तो फर्जी क्रेडिट कार्ड भेजा, वैरिफिकेशन के लिए ओरिजिनल की जानकारी ले अकाउंट से 40 हजार निकाले

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साइबर सेल की जांच के बाद पुलिस ने UP की महिला व दिल्ली के युवक पर केस दर्ज कर लिया है। - प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
साइबर सेल की जांच के बाद पुलिस ने UP की महिला व दिल्ली के युवक पर केस दर्ज कर लिया है। - प्रतीकात्मक फोटो

जालंधर में अब क्रेडिट कार्ड की आड़ में नई तरह की ठगी का मामला उजागर हुआ है। यहां एक युवती ने नए क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन किया, लेकिन बैंक ने उसे रिजेक्ट कर दिया। हालांकि कुछ दिन बाद बिना कोई सूचना के उसके घर क्रेडिट कार्ड पहुंच गया। जब उसने उसे एक्टिवेट किया तो ठगों ने उसके असली क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर खाते से 40 हजार की रकम उड़ा ली। पुलिस ने जांच की तो ठग UP व दिल्ली के निकले। उनके खिलाफ अब धोखाधड़ी व IT एक्ट का केस दर्ज कर लिया गया है।

एक्सिस बैंक के फ्लिपकार्ट वाले क्रेडिट कार्ड का आवेदन हुआ था रिजेक्ट

फिल्लौर की रहने वाली निशा शर्मा ने बताया कि उनके पास AXIS बैंक का क्रेडिट कार्ड है। 4 महीने पहले उन्होंने एक्सिस बैंक फ्लिपकार्ट क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई किया था, लेकिन उनका आवेदन रिजेक्ट कर दिया गया। मार्च में बिना बैंक की तरफ से कोई सूचना दिए उनके घर क्रेडिट कार्ड पहुंच गया।

बिना सूचना घर पहुंचा कार्ड, डेढ़ महीने बाद वैरिफिकेशन कॉल उठाई

उन्हें इस पर बहुत हैरानी हुई। इसके बाद कार्ड की वैरिफिकेशन के लिए करीब डेढ़ महीने तक उन्हें कॉल आता रहा, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया। 5 मार्च को जैसे ही उन्होंने कार्ड को एक्टिवेट किया तो उनके नंबर पर 7982872464 से कॉल आया। कॉल करने वाले ने खुद को एक्सिस बैंक का कर्मचारी बताया। उसने कार्ड की आखिरी 4 डिजिट, एक्सपायरी डेट, CVV और OTP मांगा तो उन्होंने कॉल डिसकनेक्ट कर दी।

पहले ट्रांजेक्शन फेल हुई, फिर रुपए हो गए ट्रांसफर

कॉल डिसकनेक्ट करने के तुरंत बाद उन्हें मैसेज व ई-मेल अलर्ट आया कि उनके अकाउंट से 40,400 रुपए की ट्रांजेक्शन फेल हो गई है। इसके कुछ ही पल बाद उनके पास मैसेज आया कि यह अमाउंट Paytm अकाउंट में ट्रांसफर हो गया है। उन्होंने तुरंत कस्टमर केयर को कॉल कर अपना क्रेडिट कार्ड ब्लाॅक करवा दिया। इससे पहले भी फरवरी 2020 में उनका मोबाइल नंबर, एड्रेस व ई-मेल ID चेंज हो गई थी, लेकिन उन्होंने तब इसलिए ध्यान नहीं दिया कि नए ब्यौरे भी उन्हीं के थे।

UP की महिला के खाते में गए रुपए, कॉल करने वाला दिल्ली का

पुलिस ने इसकी जांच की तो पता चला कि निशा के अकाउंट से रकम IMPS के जरिए उत्तर प्रदेश के बुबराला स्थित PNB की ब्रांच में अनीता यादव के खाते में गए हैं। अनीता यादव लेखपाल कॉलोनी अबराला संभल UP की रहने वाली है। इस खाते में रुपए जाते ही उसने कैश निकलवा लिया। इस बैंक के खाते में अब 20,332 रुपए फ्रीज हो चुके हैं। जिस मोबाइल नंबर से निशा को कॉल आया, वह पूरन सिंह निवासी शिव विहार, वेस्ट जनकपुरी नई दिल्ली के नाम पर है। जिसके बाद दोनों के खिलाफ केस दर्ज करने की सिफारिश कर दी गई।