• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Chairman Unitedly Said Officers Do Not Listen; Employees Union's Answer Pressure Is Not Tolerated, If You Want To Get The Work Done, Send It Through Mayor commissioner

जालंधर में निगम अफसर Vs एडहॉक कमेटियां:चेयरमैन एकजुट होकर बोले- अफसर नहीं सुनते; इंप्लाइज यूनियन का जवाब - दबाव बर्दाश्त नहीं, काम कराना है तो मेयर-कमिश्नर के जरिए भेजें

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम जालंधर ऑफिस। - Dainik Bhaskar
नगर निगम जालंधर ऑफिस।

जालंधर में नगर निगम के पार्षदों वाली 15 एडहॉक कमेटियों के चेयरमैनों के एकजुट होने के बाद कर्मचारी भी एक मंच पर इकट्‌ठा हो गए है। कमेटियों ने अफसरों पर सुनवाई न करने का आरोप जड़ा था। इसके बाद कर्मचारी यूनियन ने भी साफ कर दिया है कि वो किसी का दबाव बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्हें कोई काम करवाना है तो मेयर या निगम कमिश्नर के जरिए भेजें। सीधे तौर पर जबरन वो कोई काम नहीं करेंगे। अगर ऐसा हुआ तो फिर कर्मचारी संघर्ष करने से पीछे हटेंगे।

मेयर जगदीश राजा से मीटिंग करते एडहाॅक कमेटियों के चेयरमैन।
मेयर जगदीश राजा से मीटिंग करते एडहाॅक कमेटियों के चेयरमैन।

पहले एडहॉक कमेटियों के चेयरमैनों ने खोला मोर्चा, बोले- अफसर नहीं सुन रहे

यह विवाद तब भड़का जब कुछ दिन पहले निगम की वाटर सप्लाई, बिल्डिंग, तहबाजारी समेत अलग-अलग विभागों की सब कमेटियों के चेयरमैनों ने मीटिंग की थी। जिसमें उन्होंने कहा कि निगम के अफसर उनकी सुनवाई नहीं कर रहे। कई कमेटियों की बैठक ही अफसर नहीं बुला रहे। 80 पार्षद वाले नगर निगम में 65 पार्षद वाली कांग्रेस का बहुमत है। कुछ दिन पहले मीटिंग के बाद उन्होंने कहा कि जब अफसर सहयोग नहीं करते तो फिर ऐसी कमेटियां बनाने का क्या मतलब रह गया है। आपसी कोआर्डिनेशन के लिए एक वॉट्सऐप ग्रुप भी बनाया गया। इस बारे में वो मेयर जगदीश राजा से भी मिले थे। इस मीटिंग में चेयरमैन नीरजा जैन, बलराज ठाकुर, निर्मल सिंह निम्मा, अरुणा अरोड़ा, पवन कुमार, गुरविंदर सिंह बंटी नीलकंठ, तरसेम लखोत्रा, जगदीश गग, मनदीप जस्सल, कंवलजीत कौर गुल्लू, मेंबर जगदीश समराए मौजूद हुए थे।

अफसरों के साथ एकजुटता दिखाते म्यूनसिपिल इंप्लाइज यूनियन के पदाधिकारी।
अफसरों के साथ एकजुटता दिखाते म्यूनसिपिल इंप्लाइज यूनियन के पदाधिकारी।

अब अफसर इकट्‌ठा हुए, बोले - डटकर करेंगे विरोध

इसको लेकर म्यूनिसिपल इंप्लाइज यूनियन की बैठक प्रधान मनदीप सिंह की अगुवाई में हुई। जिसमें SE इंजी. सतिंदर कुमार, महीप सरीन, राजीव ऋषि, भूपिंदर सिंह, राजेश शर्मा आदि अफसर मौजूद रहे। इसके बाद उन्होंने दो टूक कह दिया है कि कमेटी चेयरमैन या मेंबर जबरन दबाव डालकर किसी अफसर या कर्मचारी से काम नहीं करा सकते। अगर उन्हें कोई सुधार चाहिए तो मेयर को लिखित सुझाव दें। मेयर कमिश्नर को भेजें और उस पर कमिश्नर की कोई हिदायत आती है तो उसको लागू किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...