जालंधर का प्रिया छाबड़ा आत्महत्या मामला:मृतका के बच्चों और बड़ी बहन का DC ऑफिस में धरना, DSP ने आरोपियों को जल्द पकड़ने का दिया आश्वासन

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
धरने पर बैठी प्रिया की बड़ी बहन पिंकी के साथ बातचीत करते डीसीपी जगमोहन सिंह। - Dainik Bhaskar
धरने पर बैठी प्रिया की बड़ी बहन पिंकी के साथ बातचीत करते डीसीपी जगमोहन सिंह।

पंजाब के जालंधर में पॉश एरिया जीटीबी नगर में करीब 20 दिन पहले अपने पति की ज्यादतियों से तंग आकर मौत को गले लगाने वाली महिला प्रिया छाबड़ा के लिए इंसाफ को लेकर अब मरहूम के बच्चों और बड़ी बहन ने डीसी ऑफिस में धरना लगा दिया है। प्रिया की बड़ी बहन पिंकी ने कहा कि उन्हें भी अच्छा नहीं लगता कि वह बच्चों के साथ आकर धरना पर बैठें, लेकिन उन्हें इंसाफ नहीं मिल रहा है।

आरोपी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं। वह थानों के चक्कर लगा रहे आरोपियों को पकड़ने की मांग कर रहे हैं, लेकिन उन्हें कहीं से भी कोई राहत नहीं मिल रही है। उन्होंने कहा प्रिया कि पति व उसके भाई-भाभियों को तो पुलिस ने पकड़ लिया, लेकिन प्रिया को आत्महत्या जैसा जघन्य कदम उठाने के लिए मजबूर करने वाली पति की बहन व बहनोई अभी तक पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

मौके पर पहुंचे डीसीपी जगमोहन ने प्रिया की बड़ी बहन की बात सुनी और कहा कि पुलिस आरोपियों को ढूंढ रही है। डीसीपी ने कहा कि मुख्य आरोपियों को तो तत्काल पकड़ लिया गया था, लेकिन कुछ लोग जो फरार चल रहे हैं उन्हें भी जल्द सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।

मरने से पहले प्रिया ने लिखे थे सुसाइड नोट

बता दें कि जालंधर शहर के पाश एरिया जीटीवी नगर के रहनें वाले फगवाड़ा गेट मार्केट में बिजली उपकरणों के कारोबारी लवलीन छाबड़ा की पत्नी ने मरने से पहले अलग-अलग सुसाइड नोट लिखे थे। जिसमें प्रिया ने कहा था उसका पति बहुत ज्यादा तंग करता है। उसके साथ मारपीट करता है। अब उसकी बर्दाश्त से सबह कुछ बाहर हो गया है। वह बच्चों से लिए जी रही थी। वह मरना नहीं चाहती, लेकिन अब और बर्दाश्त नहीं होता। प्रिया ने अपने पति, जेठ जेठानी के अलावा और भी रिश्तेदारों के नाम सुसाइड नोट में लिखे थे। बच्चों के बारे में भी कई भावुक बातें लिखी थीं।