पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निगम शहरवासियों को प्रेरित कर रहा:कूड़े से कंपोस्ट बनाने वालों की खाद पीएयू से सर्टिफाइड कराएगा निगम

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पटवारी ढाबा खाद बनाने में रोजाना 20 किलो कू़ड़े का कर रहा इस्तेमाल

डंप पर कूड़े की मात्रा कम करने के लिए नगर निगम शहरवासियों को प्रेरित कर रहा है कि अपने किचन वेस्ट से खाद बनाएं। जिसे कंपोस्ट कहा जाता है। करना ये है कि घर हो या फिर होटल-रेस्तरां है, सब्जी और फल के छिलकों को एक जगह एकत्रित करते रहें, हफ्ते बाद ये खाद बन जाएगी। 50 किलो तक कूड़ा पैदा करने वाले ब्लक जेनरेटर खाद बनाएं तो इसकी बिक्री के लिए निगम पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी से टेस्टिंग भी करवा रहा है।कैंटोनमेंट एरिया के पटवारी ढाबा पर आज निगम के ज्वाइंट कमिश्नर हरचरण सिंह पहुंचे थे। उन्होंने ढाबे की तरफ से बनाई खाद देखी।

यहां लाॅकडाउन के कारण केवल खाने की पैकिंग हो रही है, जिस कारण वेस्ट 20 किलो भी थी जबकि आम दिनों में रोजाना 50 किलो तक होती है। ऐसे में 2 लाख रुपए के करीब खर्च करके ढाबे ने प्रोफेशनल तरीके से पिट कंपोस्ट यूनिट बनाया है। हरचरण सिंह ने बताया कि निगम अब इस खाद को पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में टेस्टिंग के लिए भेजेगा। रिपोर्ट आने के बाद खाद की क्वालिटी सर्टिफाइड हो जाएगी। कंपोस्ट बनाने वाला इसे बेच भी सकता है।

खबरें और भी हैं...