• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Employee Cut The Electricity For Not Paying The Bill, Surrounded The Villagers In Punjab And Said CM Charanjit Channi Has Said, No One's Connection Will Be Cut; Reconnected

बिल न भरने पर काटी महिला के घर की बिजली:ग्रामीणों ने कर्मचारी को घेरकर कहा- CM चरणजीत चन्नी ने कहा है, किसी का कनेक्शन नहीं काटा जाएगा; दोबारा जुड़वाया

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिजली कर्मचारी के कनेक्शन काटने का विरोध करते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
बिजली कर्मचारी के कनेक्शन काटने का विरोध करते ग्रामीण।

पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी के CM बनने के बाद दिलचस्प घटना सामने आई है। एक कर्मचारी ने बिजली काट दी। यह देख ग्रामीणों ने उसे घेर लिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा है कि बिल न भरने पर किसी की बिजली नहीं काटी जाएगी। फिर उसने बिजली क्यों काटी?। कर्मचारी जूनियर इंजीनियर (JE) से बात करवाने की कोशिश करता रहा, लेकिन ग्रामीण इसके लिए राजी नहीं हुए। उन्होंने वीडियो बनाकर शिकायत मुख्यमंत्री से करने की बात कही। जिसके बाद कर्मचारी को काटा कनेक्शन वापस जोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा।

कनेक्शन काटकर जाते कर्मचारी को घेरते ग्रामीण।
कनेक्शन काटकर जाते कर्मचारी को घेरते ग्रामीण।

इस बाबत अब एक वीडियो वायरल हुई है। जिसमें बिजली कर्मी कनेक्शन काटकर जाने लगा। यह देख ग्रामीणों ने उसे रोक लिया। कर्मचारी ने तुरंत JE से बात करानी चाही। ग्रामीण इसके लिए तैयार नहीं हुए। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को अब भी कैप्टन सरकार की नीतियों की आदत पड़ी हुई है। घर की बिजली कटने पर महिला कहती रही कि वह किश्तों में बिल देने को तैयार है। कर्मचारी सुन ही नहीं रहा था। जिसके बाद विवाद बढ़ गया। फिलहाल यह वाकया कहां का है, इसके बारे में सरकारी स्तर पर छानबीन शुरू हो गई है।

कर्मचारी फोन कर अफसरों को बुलाता रहा, लेकिन कोई नहीं आया।
कर्मचारी फोन कर अफसरों को बुलाता रहा, लेकिन कोई नहीं आया।

मौके पर नहीं आए अफसर

जिस कर्मचारी ने बिजली का कनेक्शन काटा, वह ग्रामीणों के विरोध से परेशान हो गया। ग्रामीणों ने उसे चेतावनी दी कि अगर वह कनेक्शन काटकर यहां से गया तो मुख्यमंत्री को शिकायत कर देंगे। वे वीडियो बना रहे हैं। कर्मचारी ने अपने फोन से JE से बात करवानी चाही, लेकिन लोगों ने इन्कार कर दिया। ग्रामीण जेई को मौके पर बुलाने के लिए कहते रहे। हालांकि विरोध बढ़ने के बाद कोई अफसर मौके पर नहीं आया। जेई ने फोन पर ही कर्मचारी को कनेक्शन जोड़ने के लिए कह दिया।

कर्मचारी को बिजली कनेक्शन जोड़कर ही जाना पड़ा।
कर्मचारी को बिजली कनेक्शन जोड़कर ही जाना पड़ा।

पद संभालते ही CM चन्नी ने की थी घोषणा

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने 20 सितंबर को शपथ ली। इसके बाद प्रेस कान्फ्रेंस कर कहा कि बिल पेंडिंग होने पर किसी का कनेक्शन नहीं काटा जाएगा। पुराने बिल माफ होंगे। अनुसूचित जाति और बीपीएल परिवारों की फ्री बिजली यूनिट 200 से बढ़ा 300 यूनिट करेंगे। गांवों में पानी का बिल नहीं आएगा। CM की इस घोषणा का खूब सराहना मिली। अब लोग खुद ही उनकी घोषणाओं को जमीन पर लागू करने में जुट गई हैं।

खबरें और भी हैं...