किशनपुरा में शादी के दौरान टूटे कोविड नियम:बेंटले में दुल्हन लेनेे आया दूल्हा, जूलो में पहुंचा थाने

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किशनपुरा में ब्रह्मकुंड मंदिर परिसर में खड़ी बेंटले कार, सजा पंडाल और तैनात पुलिस मुलाजिम। - Dainik Bhaskar
किशनपुरा में ब्रह्मकुंड मंदिर परिसर में खड़ी बेंटले कार, सजा पंडाल और तैनात पुलिस मुलाजिम।
  • दूल्हा- दुल्हन के पिता नहीं मिले, दूल्हा-चाचा अरेस्ट

रामामंडी के एकता नगर से किशनपुरा ब्रह्मकुंड मंदिर में पहुंची बारात से पुलिस ने दूल्हे और उसके चाचा को कोरोना नियमों के उल्लंघन और शादी में तय गिनती से ज्यादा मेहमान इकट्‌ठे करने के मामले में गिरफ्तार कर लिया। दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 51-नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट और एपिडेमिक एक्ट के तहत पर्चा दर्ज किया है।

दूल्हा एकता नगर रामामंडी और चाचा दौलतपुरी इलाके में रहने वाले हैं। देर शाम तक पुलिस दौलतपुरी निवासी दुल्हन के पिता और एकता नगर निवासी दूल्हे के पिता को गिरफ्तार नहीं कर पाई। दुल्हन को ले जाने के लिए दूल्हे ने बेंटले कार बुक करवाई थी। दूल्हा घोड़ी से उतरा ही था कि पुलिस उसे अपनी जूलो गाड़ी में बिठाकर थाने ले गई।

दूल्हा बोला- बारात में 20 लोग थे, खाने के दौरान इलाके की भीड़ पंडाल में जुट गई

थाना-3 के एसएचओ मुकेश कुमार ने बताया कि डीसी के आदेश हैं कि शादी में 20 से ज्यादा लोग इकट्‌ठे नहीं हो सकते लेकिन रविवार को शादी में मेहमानों की गिनती काफी ज्यादा थी। शादी में कई स्टाल लगे थे। पुलिस पहुंची तो अफरा-तफरी मच गई। लोग इधर-उधर भागने लगे लेकिन दूल्हा और उसका चाचा को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया।

23 साल के दूल्हे ने बताया कि वह मास मीडिया का स्टूडेंट है। वे 20 लोगों की बारात लेकर ही आए थे लेकिन शादी में खाने के दौरान इलाके के लोग आ गए। दूल्हे को थाने लाते ही पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। एक घंटे तक किसी ने उसकी जमानत नहीं दी तो एक व्यक्ति ने उसकी जमानत दी। दो घंटे बाद उसे छोड़ दिया गया।

खबरें और भी हैं...