• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Health Department Will Meet The Target Of Administering The First Dose To All People Above 18 Years Of Age By September, Then The Road Map For Booster Doses Will Be Made.

सुरक्षा सप्लाई पर निर्भर:18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को सितंबर तक पहली डोज लगाने का टारगेट पूरा करेगा सेहत विभाग, फिर बूस्टर डोज का बनेगा रोड मैप

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पर्याप्त वैक्सीन मिलती रही तो इसी महीने 50 प्रतिशत तक कोरोना से सुरक्षित होगा अपना शहर - Dainik Bhaskar
पर्याप्त वैक्सीन मिलती रही तो इसी महीने 50 प्रतिशत तक कोरोना से सुरक्षित होगा अपना शहर

कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव के तहत सेहत विभाग ने नई प्लानिंग की है, सेहत विभाग के टीकाकरण सेल का कहना है कि मौजूदा रिपोर्ट के अनुसार जिले में पहली डोज लगवाने वालों की संख्या 12.50 लाख से ज्यादा हो गई है, जोकि पूरी जिले की जनसंख्या का 57 फीसदी है। अब इसे आगे ले जाने के लिए प्लानिंग भी की जा रही है। वहीं, जिला टीकाकरण अफसर डाॅ. राकेश कुमार चोपड़ा का कहना है कि वैक्सीन की पहली डोज लगवाने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। हालांकि हम रोज 30 से ज्यादा सरकारी सेंटर्स के अलावा अन्य निजी संस्थाओं के सहयोग के साथ वैक्सीन कैंप लगा रहे हैं।

हालांकि वैक्सीन का आंकड़ा सितंबर के आखिरी महीने तक 70 फीसदी तक ले जाएंगे। इसके साथ ही जिले में कोरोना वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या 70 फीसदी तक पूरी हो जाएगी। इसके बाद दूसरी यानी बूस्टर डोज के कैंप लगने शुरू होंगे। वहीं, शुक्रवार की वैक्सीनेशन ड्राइव की रिपोर्ट के अनुसार जिले में 6827 लोगों को वैक्सीन लगी है।

सितंबर में 16 लाख से ज्यादा लोगों को पहली डोज लगाने की तैयारी शुरू

बीते जुलाई और अगस्त के आंकड़ों के मुकाबले सितंबर के पहले 10 दिनों में कोरोना वैक्सीनेशन ड्राइव के अधीन 2 लाख से अधिक लोगों को डोज लगाई जा चुकी है। जिला टीकाकरण अफसर डाॅ. राकेश चोपड़ा का कहना है कि वैक्सीन की सप्लाई के िलए सिविल सर्जन और वे खुद रोज स्टेट विभाग के अधिकारियों के संपर्क में हैं ताकि जिले के वैक्सीन स्टोर में कोविशील्ड के साथ-साथ कोवैक्सीन की ज्यादा सप्लाई आ सके। सितंबर में हम जिले के 16 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाना चाहते हैं। हालांकि इसके लिए मोबाइल टीमों के साथ बैठकें भी की जा रही हैं।

हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद सीनियर सिटीजंस की भी वैक्सीनेशन हुई पूरी

सेहत विभाग का आंकड़ों के अनुसार जिले के फ्रंटलाइन वर्कर्स की संख्या 1.35 लाख, हेल्थ वर्कर्स में 34 हजार, 18 से 44 साल के 5.50 लाख, 45 से 59 साल के 4.60 लाख, 60 साल से अधिक उम्र के 3.45 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि दोनों डोज लेने वालों में हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद सीनियर सिटीजंस की संख्या ज्यादा है। इसके अलावा टीचर्स और दफ्तरों में काम करने वालों के साथ-साथ पब्लिक डीलिंग के विभागों में तैनात लोगों की दूसरी डोज अभी बाकी है।

खबरें और भी हैं...