सौंदर्यीकरण:सिटी स्टेशन की दीवारों पर दिखेगा जालंधर का इतिहास, लोगों को खासियतों की मिलेगी जानकारी

जालंधर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्पोर्ट्स सिटी जालंधर, सिद्धपीठ श्री देवी तालाब मंदिर, दूरदर्शन और प्रिंट मीडिया का घर यानी जालंधर... जब कोई यात्री सिटी स्टेशन पर रुके तो दीवारों पर बनी आकृतियों से उसे जालंधर की खासियतों की जानकारी भी मिलेगी। ये ऑफर जालंधर के सांसद संतोख चौधरी ने रेलवे के फिरोजपुर मंडल डीआरएम राजेश अग्रवाल को एक दिन पहले दी थी। इसके बाद लोकल रेलवे अधिकारी प्रोजेक्ट बनाने को लेकर मंथन करने लगे।

रेलवे ने प्रोजेक्ट कास्ट जालंधर प्रशासन को बतानी है ताकि फंडिंग को लेकर कदम उठाए जा सकें। सांसद चौधरी संतोख सिंह की सक्रियता से पहले स्टेशन की फेस लिफ्टिंग के लिए 6 करोड़ रुपए मंजूर हुए थे, अब उनकी कोशिश है कि रेलवे प्रोजेक्ट बनाए व फंडिंग जालंधर से की जाए।

रेलवे के इंजीनियर बताते हैं कि सबसे पहले मंथन इस बात पर चल रहा है कि जालंधर के इतिहास, खास बातों व खास पहचान को लेकर कौन-सी चीजें डिस्पले की जानी हैं। इसका कांसेप्ट तैयार करने के बाद आकृतियां बनवाने व फिट करने को लेकर आने वाले तकनीकी खर्च का एस्टीमेट बनेगा। जालंधर का रेलवे स्टेशन सौ साल से ज्यादा पुराना है। पहली बार यहां पर जालंधर की खासियत के बारे में लोग जान सकेंगे। जालंधर के इतिहास को दर्शाती कलाकृतियों पर कितना खर्च आएगा, उसका प्रोपोजल तैयार करके सांसद संतोख सिंह चौधरी को सौंपा जाएगा।

सर्कुलेटिंग एरिया का काम 60 प्रतिशत हुआ पूरा
सर्कुलेटिंग एरिया का काम 60% पूरा हो चुका है। पौधे और घास लगा दी गई है। अब रोड बनाई जा रही है। ये काम पूरा होने के बाद सेकेंड एंट्री गेट का काम शुरू होगा। स्टेशन का गेट ऊंचा होगा और गोलाकार बनाने पर विचार किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...