• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Lawyer From Whom The Room Was Rented, Cheated 6.70 Lakhs On The Pretext Of American Visa, If Asked For Money, Threatened The Goons, Said Police And Leaders In Our Pockets

जालंधर के नौसरबाज ट्रैवल एजेंट दंपती की करतूत:जिस वकील से कमरा किराए पर लिया, उनसे ही अमेरिकन वीजा का झांसा दे 6.70 लाख ठगे, रुपए मांगे तो गुंडों की धमकी दी, बोले- पुलिस व नेता हमारी जेब में

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने आरोपियों पर केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने आरोपियों पर केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

जालंधर में ट्रैवल एजेंट का काम करने वाले नौसरबाज दंपती ने एक वकील को ठग लिया। आरोपी दंपती ने पहले उनसे कमरा किराए पर लिया। इसके बाद उन्हें 10 साल का वीजा लगा अमेरिका भेजने का झांसा दिया। बदले में 6.70 लाख रुपए ले लिए। इसके बाद न अमेरिका भेजा और न ही रुपए वापस लौटाए। जब वकील ने रुपए मांगने शुरू किए तो गुंडों, नेताओं व पुलिस से नजदीकी की धमकी देने लगे। इसके बाद शिकायत पहुंची तो आरोपी जांच में शामिल नहीं हुए। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी दंपती पर ठगी का केस दर्ज कर लिया है।

ज्योति नगर में रहने वाले वकील एचएस बावा ने कहा कि किसी प्रॉपर्टी डीलर के जरिए उन्होंने साक्षी व उसके पति संतोष को कमरे का पोर्सन किराए पर दिया था। वहां करीब 6 महीने रहने के बाद उन्होंने कहा कि वो ट्रैवल एजेंट का भी काम करते हैं। वो लोगों को अमेरिका भेजते हैं। वकील भी अमेरिका जाना चाहते थे। उन्होंने आरोपी दंपती को अपनी इच्छा बताई तो उन्होंने कहा कि 25 लाख में उन्हें अमेरिका भेज देंगे। उनका 10 साल का वीजा लगेगा।

वीजा नहीं लगवा सके, पूछा तो किराए का कमरा छोड़ चले गए

इसके बाद एडवांस के तौर पर उनसे 6.70 लाख रुपए ले लिए। फिर यह तय हुआ कि बाकी रकम 10 साल का वीजा आने के बाद दी जाएगी। इसके बावजूद वो वीजा नहीं लगवा सके। जब उन्होंने पूछना शुरू किया तो वो कमरा छोड़कर चले गए। इसके बाद कहा कि वो अपनी प्रॉपर्टी बेचकर रुपए लौटा देंगे लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया।

जिस पुलिस की धौंस देते थे, वही जांच‌ करने लगी तो नहीं आए आरोपी

जब उन्होंने बार-बार कहना शुरू किया तो आरोपी दंपती ने उन्हें 3.35 लाख रुपए के दो चैक दे दिए। जब उन्होंने बैंक में पता किया तो चैक किसी के थे और उस पर साइन किसी दूसरे के कराए थे। इस वजह से वो कैश ही नहीं हुए। जब उन्होंने फिर पूछा तो आरोपी उन्हें गुंडों, नेताओं व लोकल पुलिस से करीबी की बात कहकर धमकाने लगे। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत कर दी। पुलिस ने जांच शुरू की तो आरोपी उसमें शामिल नहीं हुए। जिसके बाद उनके खिलाफ केस दर्ज करने की सिफारिश कर दी गई।