पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पेंशन रिकवरी:जिस पेंशन का नोटिस आया वो मिली नहीं, जिन्हें मिली वे गुजर चुके

जालंधर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोहियां खास में सबसे ज्यादा 275 लोगों से 92.35 लाख की रिकवरी की तैयारी
  • जिले के 1153 लोगों को नोटिस जारी, 3.36 करोड़ रुपए लौटाने की चेतावनी

फर्जी तरीके से पेंशन ले रहे लोगों को जिला प्रशासन ने रिकवरी के नोटिस भेजे हैं और कार्रवाई की चेतावनी दी है। ऐसे में धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का पर्चा दर्ज होने के डर से लोगों ने पैसे वापस करने शुरू कर दिए हैं। जिले के 1153 लोगों को 3,35,79,500 करोड़ रुपए की रिकवरी के लिए नोटिस भेजे गए हैं, जिसमें से करीब 7 लाख रुपए की रिकवरी हो गई है।

हैरानी की बात यह है कि नोटिस उन लोगों के नाम पर भी भेजे गए हैं, जिनकी मौत हो चुकी है। कई केस ऐसे हैं, जिनकी दोबारा पेंशन लग चुकी है। अब सवाल यह है कि अगर पेंशन गलत तरीके से लगी है तो इसमें जिम्मेदार कौन हैं?

लोगों के दस्तावेज चेक करने की जिम्मेदारी अधिकारियों की होती है लेकिन उन पर कार्रवाई के बजाय सिर्फ लोगों को ही रिकवरी के नोटिस जारी कर दिए गए हैं। लोगों का कहना है कि उनका पक्ष भी सुना नहीं जा रहा है। इनमें ज्यादातर गरीब तबके के लोग हैं। कई ऐसे लोग भी हैं, जिनका दावा है कि जिस पेंशन का उन्हें नोटिस मिला है, वह आज तक मिली ही नहीं।

डेढ़ साल पहले पिता का निधन, अब मिला नोटिस

गांव लुटेरा कलां के किसान जसवीर ने बताया कि उनके पिता का करीब डेढ़ साल पहले देहांत हो चुका है। अब उन्हें 54,750 रुपए की रिकवरी का नोटिस भेजा गया है। पिता की मौत का सर्टिफिकेट भी तहसील दफ्तर में सब्मिट करवाया गया है। उन्होंने बताया कि पिता की उम्र काफी ज्यादा थी, किसी भी तरह से गलत पेंशन नहीं ली गई है।

44500 का नोटिस, पेंशन एक बार भी नहीं मिली

शांति देवी और उनके पति बाबू राम को 44,500 रुपए का नोटिस आया है। शांति देवी को जिस पेंशन के संबंध में नोटिस मिला है, वह उन्हें एक बार भी नहीं मिली। शांति कहती हैं कि वे पैसे कहां से वापस करेंगे। इसी साल दोबारा पेंशन लगवाई है और 7 बार ही उनके खाते में पेंशन की राशि आई है। अब जो पेंशन उन्हें मिली ही नहीं, वह कैसे वापस करेंगे। अगर कोई हल नहीं निकला तो कर्ज उठाकर ही पैसे वापस करने पड़ेंगे क्योंकि उनकी हैसियत ही नहीं है कि 44,500 रुपए लौटा सकें।

पेंशन से ही चलता है दवा तक का खर्च, कहां से लौटाऊं 32 हजार रुपए

गांव धीरोवाल की निंबो को 32,250 हजार रुपए की रिकवरी का नोटिस भेजा गया है। निंबो ने बताया कि उसकी पेंशन लगी थी, लेकिन बीच में ही बंद हो गई। अब वह हजारों रुपए कहां से सरकार को वापस करेंगी। पहले ही पेंशन से वह अपनी दवा और अन्य खर्च चलाती हैं और प्रशासन ने बिना उनका पक्ष सुने केस दर्ज करने की चेतावनी देकर पैसे वापस करने की बात कही है। घर का खर्च तक चलाना मुश्किल हो चुका है। अब चिंता तभी खत्म होेगी, जब कोई राहत मिलेगी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें