पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • The Roads Built In The City Were Not Running For Two Years And The CC Flooring Road With A Duration Of 10 Years Was Broken In 4 Years.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जलजमाव:शहर में बनाई गईं लुक वाली सड़कें दो साल भी नहीं चल रहीं और 10 साल की मियाद वाली सीसी फ्लोरिंग रोड 4 साल में ही टूट गई

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लुक वाली सड़कों की लाइफ 5 साल तक होनी चाहिए, हर बार बहाना- जलजमाव से टूट गई

सियासी दबाव और इंजीनियरों की लापरवाही में बनीं सिटी की सड़कें 3 साल भी नहीं टिक रही हैं। डेढ़ से दो साल में ही सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं। वैसे तमाम मेन रोड पूर्व अकाली-भाजपा सरकार के कार्यकाल में बनी थीं, जो समय से पहले दम तोड़ गईं। कांग्रेस कार्यकाल में करीब 3 साल सड़कों का कोई काम नहीं हुआ। अब जर्जर हो चुकी मुख्य सड़कों को बनाने का काम शुरू हुआ है, लेकिन जिस तरह नियम के विपरीत 22 डिग्री से कम तापमान में रात को सड़कें बनाई जा रही हैं, वे भी 3 साल तक नहीं चल पाएंगी। इनमें सिटी की एंट्री रोड पीएपी चौक से बीएसएफ चौक भी शामिल है।

यहां लुक की लेयर 3 साल से पहले ही शहर में प्रवेश करने वाले लोगों की नजर में जालंधर की छवि धूमिल करने लगी थी। बावजूद इसके तीन माह पहले बनाई गई सड़क अब भी सिर्फ एक तरफ ही बनाई गई है। वैसे भी पूर्व सरकार के समय में बनी कई सड़कें एक से डेढ़ साल से खस्ताहाल हैं, जहां कभी मिट्‌टी, ईंट-पत्थर तो कभी इंटरलॉकिंग टाइलों से पैच लगाकर काम चलाया जा रहा है। इन सड़कों के टेंडर भी एक साल पहले हो चुके हैं, लेकिन पूरी गर्मी बीतने के बाद निगम ठेकेदार अब सर्द रातों में सड़क बनाकर करोड़ों के फंड की बर्बादी कर रहे हैं।

लाडोवाली, नेहरू गार्डन रोड, पीएपी से बीएसएफ चौक की सड़कें 2 साल में ही टूटीं

पीएपी से बीएसएफ चौक रोड: सिटी के एंट्री पॉइंट पीएपी चौक से बीएसएफ चौक तक की सड़क भी 3 साल की आयु पूरी नहीं कर पाई। एक साल से जर्जर सड़क 3 माह पहले बनाई गई जबकि दूसरी तरफ का काम अधूरा है। एक तरफ जो सड़क बनी है, उसके किनारे रोड गली के लिए बनाई गई सीसी फ्लोरिंग कई जगह से टूटने की हालत में है।

लाडोवाली रोड : एक दशक पहले बीएसएफ चौक से लाडोवाली रोड टी-पॉइंट तक बनी सड़क पर अब तक पैच लगाने की जरूरत नहीं पड़ी लेकिन टी-पॉइंट से अलास्का चौक होते हुए मदन फ्लोर मिल चौक तक की सड़क दूसरे साल में ही दर्जनों जगह से उखड़ गई। दो साल से जर्जर सड़क का साल पहले टेंडर हुआ और अब सर्दी में इसे बनाने की तैयारी है।

नेहरू गार्डन रोड : बीते 4 साल में नेहरू गार्डन रोड पर शस्त्री चौक से मदन फ्लोर मिल चौक तक 2 बार लुक की कारपेटिंग और बड़े पैच भी लगाए जा चुके हैं। बावजूद एक बार फिर से इस पर नई लेयर डालने की तैयारी है। आगे प्रताप बाग की रोड भी एक साल पहले टूटी चुकी है, लेकिन टेंडर के बावजूद अब 4 महीने के बाद ही लोगों को गड्ढों से राहत मिलेगी।

शहीद भगत सिंह चौक से दोमोरिया पुल को जाती लक्ष्मी सिनेमा रोड साल 2014 में बनाई गई थी। तब सड़क के मटीरियल को लेकर कई सवाल उठे और कांग्रेस नेता सुदेश विज, संजय सहगल और अनिल वशिष्ठ ने घटिया सड़क को लेकर काफी संघर्ष किया था। नतीजा हुआ कि कम से कम 10 साल चलने वाली सड़क महज 5 साल में दर्जनों जगह टूट गई। लॉकडाउन के बाद एमएलए बावा हैनरी ने दोबारा से सीसी फ्लोरिंग सड़क बनाने का काम शुरू कराया तो दुकानदारों ने फिर से दो माह कारोबार बाधित होने का हवाला देकर विरोध जताया। सियासी नफा-नुकसान में नियम से उलट टूटी रोड के ऊपर इंटरलॉकिंग टाइलें लगा दी गईं, जो कामयाब नहीं हो सकती हैं।

एडहॉक कमेटी के चेयरमैन जांच नहीं, ठेकेदार की तारीफ करते हैं

मेयर जगदीश राज राजा ने सेंट्रल हलके के वार्ड-12 से चौथी बार पार्षद चुने गए जगदीश गग को अनुभवी होने के कारण बी एंड आर एडहॉक कमेटी का चेयरमैन बनाया था। उन्होंने मीटिंगें भी खूब कीं और निगम के इंजीनियरों को हिदायतें भी खूब दीं लेकिन एक साल में इनकी एक भी घोषणा लागू नहीं हुई और न ही किसी लापरवाही पर कोई कार्रवाई हुई। दो दिन पहले हुई निगम हाउस की मीटिंग में ठेकेदार की जमकर तारीफ की, हालांकि उनके इस रवैये पर साथ बैठे कई पार्षद हंसते भी रहे लेकिन इन्हें नहीं पता कि उनके अफसर रात को सड़कें बनवा रहे हैं। उधर, मेयर जगदीश राजा का दावा है कि नई लेयर वाली सड़क अगर 3 साल की आयु पूरी नहीं कर सकी तो अब जिम्मेवारी तय होगी। संबंधित जेई से लेकर एक्सईएन पर कार्रवाई होगी। इतना ही नहीं, सड़क का काम टेंडर की शर्त अनुसार होने के बाद ठेकेदार को पेमेंट होगी और सड़क पहले टूटी तो उसकी अर्नेस्ट मनी जब्त करने का अधिकार हमारे पास है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें