मालामाल बंटवारा:ग्रामीणों ने पंचायत की जमीन पर जमाए रखा कब्जा, एह जमीन हुण साडी है, असी कब्जा नहीं छडणा

मेहतपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंचायत विभाग राजनीतिक और दबाव में भूमिहीन लोगों के साथ अन्याय कर रहा

गांव समैलपुर के जरूरतमंद भूमिहीन लोगों ने पंचायत की खाली जमीन पर पांच मरले के प्लाट आवंटित कर कड़ाके की ठंड के बावजूद बीती रात डेरा जमाए रखा । सोमवार को गांव के 100 से ज्यादा जरूरतमंद लोगों ने सरकार की घोषणा के बाद 5 मरले का प्लाट न मिलने पर खुद ही मिलकर आपस में पौने 3 एकड़ पंचायती जमीन को बांट लिया था। लेकिन पंचायती विभाग द्वारा इस कार्रवाई को अवैध कब्जा बता कर पुलिस को भी इन्फॉर्म किया गया था। मंगलवार को गांव वासियों की हिमायत में आए पास के गांव बीड़ बालोकी, मडियाला, करसैदपुर संगोवाल की महिलाओं ने पेंडू मजदूर यूनियन के नेता विजय बाठ की अध्यक्षता में मोर्चा संभाल लिया।

पेंडू मजदूर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष तरसेम पीटर ने कहा कि पुरानी सरकारों और अब चन्नी सरकार के पास जरूरतमंद मजदूरों को सिर ढकने के लिए पांच मरले के प्लॉट देने के आश्वासन के अलावा कुछ नहीं है। पंचायत विभाग राजनीतिक और दबाव में भूमिहीन लोगों के साथ अन्याय कर रहा है। गांव के जरूरतमंद 157 से अधिक आवेदक प्लाट मिलने का इंतजार कर रहे हैं और हर बार बीडीपीओ कार्यालय के अधिकारी आवेदन की जांच के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। इस मौके पर कब्जाधारी मजदूरों को संबोधित करने वालों में ग्रामीण मजदूर संघ के अध्यक्ष तरसेम पीटर, ग्रामीण मजदूर सभा के अध्यक्ष दर्शन नाहर, सिकंदर, जत्थेदार गगनदीप, हीरा, जगतार, धर्मपाल, राम लुभाया, शीतल आदि शामिल थे।

इस मसले को लेकर बीडीपीओ मेहतपुर जीनत खैहरा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि पंचायत से जवाब मांगा गया है कि अब तक जमीन की बोली क्यों नहीं करवाई गई। हम जल्द जमीन की बोली करवाएंगे। 5 मरले के प्लाट आवंटन का मामला एसडीएम नकोदर के पास विचाराधीन है। रेवेन्यु डिपार्टमेंट की हड़ताल के कारण प्लाट नहीं बांटे जा सके। प्रशासन किसी तरह का भी अवैध कब्जा नहीं होने देगा।

खबरें और भी हैं...