• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Woman Sarpanch, Her Husband And The Panch Attacked The Panchayat Secretary, Also Broke The Government Records, Escaped And Saved Her Life.

पंचायत मीटिंग बनी जंग का अखाड़ा:महिला सरपंच, उसके पति व पंच ने पंचायत सेक्रेटरी पर किया हमला; सरकारी रिकॉर्ड भी फाड़ा, भागकर जान बचाई

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत सेक्रेटरी से लिखित शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। - प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
पंचायत सेक्रेटरी से लिखित शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। - प्रतीकात्मक फोटो
  • गांव इनोवाल का मामला, किसी दूसरे पंच के साथ गाली-गलौच करने से भड़के थे आरोपी

महिला सरपंच, उसके पति व एक पंच को दूसरे पंच के साथ गाली-गलौच से रोकना पंचायत सेक्रेटरी को महंगा पड़ गया। तीनों आरोपियों ने पंचायत मीटिंग को जंग का अखाड़ा बना दिया और हाथापाई करने लगे। पंचायत सेक्रेटरी के हाथ से सरकारी रिकॉर्ड छीनकर फाड़ डाला। यह देख पंचायत सेक्रेटरी ने वहां से दफ्तर भागकर अपनी जान बचाई।

इसके बाद भी आरोपियों ने उनका पीछा करने की कोशिश की। किसी तरह वह अपने दफ्तर पहुंचे और पुलिस को इसकी लिखित शिकायत भेजी। पुलिस ने अब तीनों आरोपियों के खिलाफ सरकारी ड्यूटी में विघ्न डालने, रिकॉर्ड को नुकसान पहुंचाने जैसे आरोपों के तहत केस दर्ज कर लिया है।

ये है पूरा मामला

गांव इनोवाल के पंचायत सेक्रेटरी बलबिंदर सिंह ने बताया कि बीते दिन गांव में ग्राम पंचायत की मीटिंग चल रही थी। इसी दौरान गांव की सरपंच गुरबिंदर कौर, उसके पति सुरिंदरपाल और पंच हरप्रीत सिंह ने वहां पर भला-बुरा कहना शुरू कर दिया। इस दौरान वार्ड 4 के पंच राजिंदर सिंह के साथ सरपंच के पति सुरिंदरपाल व पंच हरप्रीत ने गाली-गलौच करनी शुरू कर दी। बतौर पंचायत सेक्रेटरी उन्होंने तीनों को रोकने की कोशिश की तो आरोपी उनके साथ ही गाली-गलौच करने लगे। उन्होंने कई बार इन तीनों को रोकने की कोशिश की, जिससे गुस्से में आकर वह हाथापाई करने लगे। उन्होंने पंचायत कार्रवाई के रजिस्टर का सरकारी रिकॉर्ड छीनकर फाड़ने की कोशिश की।

पंचायत सेक्रेटरी बलबिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने पंचायत घर से राहगीरों की मदद से जान बचाई और शाहकोट दफ्तर की तरफ भाग निकले। आरोपियों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी और पीछा भी किया। पंचायत सेक्रेटरी ने कहा कि उन्हें इन तीनों से जान का खतरा है और वह किसी भी वक्त उनके साथ कुछ गलत कर सकते हैं।