पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • The Younger Brother And His Wife Bled In The Middle Of The Night To Grab The House, Saved Their Lives By Going To The Neighborhood Through The Roof

जालंधर में बेदखल भाई की गुंडागर्दी:घर कब्जाने के लिए आधी रात को छोटे भाई और उसकी पत्नी को किया लहूलुहान, छत के रास्ते पड़ोस में जाकर बचाई जान

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्नी ने छोटे भाई को बचाने की कोशिश की तो भाई ने उस पर भी हमला कर दिया। - प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
पत्नी ने छोटे भाई को बचाने की कोशिश की तो भाई ने उस पर भी हमला कर दिया। - प्रतीकात्मक फोटो

बुरी संगत के कारण पिता ने बेदखल किया तो भड़का बड़ा भाई ने घर पर कब्जा करने के लिए आधी रात हथियार समेत आ धमका। उसने छोटे भाई व उसकी पत्नी पर हमला कर उन्हें लहूलुहान कर दिया और घर के सामान से भी तोड़फोड़ की। छोटे भाई ने पत्नी समेत छत के रास्ते पड़ोसियों के घर में घुस कर जान बचाई। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

आधी रात को घर में घुसकर बोला- घर मेरा, इसे खाली न करने का सबक सिखाऊंगा

गांव रंधावा के रहने वाले बलजिंदर कुमार ने बताया कि वह मिस्त्री का काम करता है। उसका बड़ा भाई हरजिंदर कुमार शुरू से ही बुरी संगत में पड़ गया था। यह देख पिता सर्बजीत राम ने उसे परिवार व संपत्ति से बेदखल कर दिया। इसके बाद वह घर से बाहर ही रह रहा था। बीती रात करीब एक-डेढ़ बजे वह धारदार हथियार दातर लेकर घर में आ घुसा। अंदर आते ही उसने ललकारा मारना शुरू कर दिया कि यह घर मेरा है। इसे खाली न करने का आज तुझे सबक सिखाऊंगा।

पत्नी बचाने आई तो उसे लहूलुहान किया, घर की दरवाजा व सोफा भी तोड़ा

इसके बाद उसने दातर से उस पर हमला कर दिया, जो उसके हाथ पर लगा। यह देख बलजिंदर की पत्नी सीमा ने पति को बचाने की कोशिश की तो आरोपी ने उसके सिर व बांह पर भी हमला कर दिया। पत्नी लहूलुहान हो गई तो हरजिंदर ने घर के दरवाजे व सोफे भी दातर मारकर तोड़ दिए। इसके बाद वह पत्नी के साथ सीढ़ियों से छत पर गया और मुश्किल से पड़ोसी कर्माचंद के घर में जाकर अपनी जान बचाई। जब वहां पर लोग इकट्‌ठा होने लगे तो हरजिंदर कुमार वहां से फरार हो गया।

रिहायशी मकान पर कब्जा करना चाहता है आरोपी भाई

बरजिंदर का कहना है कि उसका भाई पिता के बेदखल करने की वजह से उससे रंजिश रखता है। वह उनके रिहायशी मकान पर कब्जा करना चाहता है। इसी वजह से उसने हमला किया। आरोपी के फरार होने के बाद पिता सर्बजीत अपने बेटे बलजिंदर व बहू सीमा को अस्पताल ले गए।