पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • There Is No Sound And No Doors Or Windows Are Found Open; People Circling The Tantrik Said The Thief's Soul Is Roaming In The Village

चोरी का अनोखा मामला:न कोई आहट होती और न दरवाजे-खिड़की खुली मिलती है; तांत्रिक के चक्कर काट रहे लोग बोले- गांव में चोर की आत्मा घूम रही

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस बारे में पुलिस को शिकायत की गई थी लेकिन चोर पकड़ा नहीं जा सका। - Dainik Bhaskar
इस बारे में पुलिस को शिकायत की गई थी लेकिन चोर पकड़ा नहीं जा सका।

जालंधर के फिल्लौर कस्बे के गांव गन्ना में अंधविश्वास का अनोखा मामला सामने आया है। यहां पिछले कुछ समय से आधी रात को लोगों के मोबाइल व रुपए गायब हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि रात को न तो किसी की आहट सुनाई देती है और न ही दरवाजे-खिड़की खुले मिलती हैं। फिर भी सामान चोरी हो जाता है। पुलिस के पास जाने के बजाय वो तांत्रिक के चक्कर काट रहे हैं। गांव के लोग कहते हैं कि उनके गांव में किसी चोर की आत्मा घूम रही है, जो उनके यहां चोरी कर रही है।

मोबाइल ज्यादा चोरी हो रहे

गन्ना गांव के सचिन ने कहा कि वो रात को हेडफोन लगा गाने सुन रहा था। अचानक नींद आ गई। सुबह आंख खुली तो मोबाइल गायब था। इसी तरह अमरजीत के घर से रात को मोबाइल व कंपनी के 8,600 रुपए गायब हो गए। गांव में ऐसी कई शिकायतें हैं। पुष्पा देवी के बेटे के लिए खरीदा 15 हजार का मोबाइल, बलविंदर कुमार के दो मोबाइल व आलमारी से 50 हजार, सोहन सिंह के 40 हजार व 2 मोबाइल, जसविंदर कुमार के 25 हजार व LED गायब हो गई।

पुलिस नहीं पकड़ सकी चोर

गांव के लोगों का कहना है कि जब लगातार चोरियां होने लगी तो वो पुलिस के पास ही गए थे। पुलिस ने काफी कोशिश की लेकिन चोर नहीं पकड़ा गया। चोर का कोई सुराग नहीं मिला। इसलिए उन्हें शक है कि इसके पीछे काेई जिंदा चोर नहीं बल्कि किसी चोर की आत्मा का काम है, जो लोगों के यहां से चोरी कर रहा है। इसलिए वो इलाके में रहने वाले एक तांत्रिक के पास जाकर उसकी आत्मा को शांत करने के उपाय पूछ रहे हैं।

पुलिस बोली, जल्द अरेस्ट होगा चोर

इस मामले में थाना फिल्लौर के SHO संजीव कपूर ने कहा कि उनके पास कुछ लोगों की शिकायत मिली है। पुलिस इसकी जांच कर रही है। जल्द ही चोर को अरेस्ट कर पूरी घटनाओं को ट्रेस कर लिया जाएगा।