5वें दिन राहत की रोशनी:दिनभर नहीं लगा कट, आज बिजली बंद होने की आशंका भी कम

जालंधर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीएमसी चौक में फाल्ट के कारण बिजली बंद होने पर ट्रैफिक कंट्रोल करते हुए मुलाजिम। - Dainik Bhaskar
बीएमसी चौक में फाल्ट के कारण बिजली बंद होने पर ट्रैफिक कंट्रोल करते हुए मुलाजिम।
  • सूबे के थर्मल प्लांटों में पहुंचे कोयले के 13 रैक, किसानों को भी रही राहत
  • चौक-चौराहों पर ट्रैफिक मुलाजिमों को हिदायत- बिजली कट लगते ही ट्रैफिक कंट्रोल करें ताकि जाम न लगे

सिटी में बुधवार को कोई पावरकट नहीं लगा। हालांकि शाम 4 बजे मैसेज आया कि 6:30 बजे तक पावरकट लगाया जाना है, लेकिन ठीक 5 मिनट बाद ही अघोषित कट कैंसिल कर दिया गया। इसका कारण है कि सूबे के थर्मल प्लांटों में कोयले के 13 रैक पहुंच चुके हैं और कोल इंडिया ने कोयले की प्रोडक्शन भी बढ़ानी शुरू कर दी है। इसके चलते वीरवार को कट लगाने की आशंका काफी कम है। किसानों ने जब हाईवे पर धरना लगाया था तो चीफ इंजीनियर जैनिंदर दानिया ने आश्वासन दिया था कि 13 तारीख के बाद बिजली कटों से राहत मिलेगी।

4 दिन में 30 हजार से ज्यादा कॉल्स, 10 लाख उपभोक्ता रहे परेशान

अब गांवों में भी कट छोटे कर दिए गए हैं। चार दिन बिजली सप्लाई बंद रहने के कारण पांचों डिवीजनों में 30 हजार से अधिक काॅल्स आईं, जबकि 10 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए। दूसरी तरफ ट्रैफिक पुलिस को हिदायतें दी गई हैं कि पावर कट लगते ही चौकों में ट्रैफिक कंट्रोल किया जाए। हिदायतें हैं कि किसी तरह से पब्लिक को परेशानी न आने दी जाए और ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाया जाए।

जालंधर के 4 जोन में 1358 मैगावाट की डिमांड पूरी कर रहा पावरकाॅम

पावरकाॅम पावरकट लगने के बावजूद जालंधर के चारों जोन में 1358 मैगावाट बिजली की डिमांड को पूरी कर रहा है, जिसमें जालंधर सर्किल में 512 मैगावाट, कपूूरथला सर्किल को 289 मैगावाट, होशियारपुर में 311 मैगावाट और नवांशहर में 246 मैगावाट बिजली की डिमांड चल रही है। पावरकाॅम के अधिकारियों ने कहा कि मौसम सही होने के कारण अभी रात के समय एसी कम ही चल रहे हैं, जिस कारण डिमांड में भी कमी आई है।

खबरें और भी हैं...