• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Today There Is A Possibility Of Drizzle, After The Entry In The State, The Monsoon Was Weakened, If It Is Fully Active, There Will Be An Increase In The Production Of Paddy.

देर रात मानसून की पहली तेज बारिश:आज बूंदाबांदी के आसार, सूबे में एंट्री के बाद कमजाेर पड़ गया था मानसून, पूरी तरह एक्टिव होने पर धान की पैदावार में होगा इजाफा

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर काे मानसून की तेज बारिश के लिए हफ्ताभर इंतजार करना पड़ा है। रविवार रात 11 बजे के करीब शहर में आंधी के साथ बारिश हुई है। तेज बारिश पूरी रात रुक-रुक कर होती रही। मौसम विभाग के अनुसार अगले 48 घंटे जालंधर में बादल छाएंगे और कई जगहाें पर बादलों की गर्जना के साथ बूंदाबांदी हो सकती है। पंजाब में मानसून की रेखा अमृतसर तक पहुंच गई थी। इसके बाद जालंधर में महीन बूंदाबांदी तक ही बारिश सीमित थी।

चंडीगढ़ मौसम केंद्र के अनुसार मानसून की पंजाब में एंट्री इस बार जल्दी हाे गई थी पर इसके बाद मानसून कमजाेर पड़ गया। मानसून अब फिर एक्टिव हाे रहा है। सिटी का ओवरऑल तापमान 38 डिग्री रहा। आगामी दो दिन के बाद पूरा हफ्ता मौसम ड्राई रहने और तापमान में इजाफे की उम्मीद है। भरपूर मानसून से धान की पैदावार में फायदा होगा।

जून में हो चुकी है 78 एमएम बारिश
जालंधर में जून में 78 एमएम बारिश रिकाॅर्ड की गई। जालंधर के बाद दूसरे नंबर पर 74 एमएम के साथ कपूरथला और 60 एमएम के साथ लुधियाना तीसरे नंबर पर है। पिछले साल 20 जून का दिन गर्म और ड्राई रहा था। इस बार आधी रात को भरपूर मॉनसून ने जालंधर को भिगोया है। खेतीबाड़ी विभाग के माहिर डाॅ. नरेश कुमार गुलाटी बताते हैं कि मानसून की ताजा बौछारें धान के खेतों के लिए अमृत की तरह हैं। इन दिनों खेतों में मक्का की कटाई चल रही है और धान की रोपाई हो रही है। धान की पौध की रोपाई के लिए खेतों को पानी से भरा जाता है और मानसून की बौछारें इस काम को बखूबी कर रही।

खबरें और भी हैं...