बारिश ने खोली जालंधर निगम की पोल:प्री-मानसून में ही शहर में जलभराव, घरों में बत्ती गुल; अव्यवस्थाओं से लोग परेशान

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामामंडी में होशियारपुर जालंधर रोड पर बाजार में जमा बारिश का पानी। - Dainik Bhaskar
रामामंडी में होशियारपुर जालंधर रोड पर बाजार में जमा बारिश का पानी।

मानसून से पहले प्री-मानसून की बारिश ने ही जालंधर नगर निगम के प्रबंधों की पोल खोल कर रख दी है। गुरुवार को शहर की अधिकतर सड़कों पर जलभराव हो गया है। लोगों के साथ-साथ दुकानदारों को बारिश का पानी सड़कों पर जमा होने के कारण परेशानी उठानी पड़ रही है।

कहने को तो नगर निगम ने शहर की सड़कों को खोद-खोद कर स्टॉर्म सीवरेज भी डाला था, लेकिन वह भी किसी काम नहीं आया। हाईवे पर भी हालात ऐसे ही बने हुए हैं। हाईवे पर भी बहुत सारे पॉइंट्स पर पानी की निकासी न होने के कारण सड़कें पानी में डूबी हुई हैं।

रामामंडी में होशियारपुर जालंधर मार्ग पर बाजार में जलभराव है। दुकानदारों का कहना है कि वह नगर निगम के अधिकारियों के साथ-साथ स्थानीय विधायक को भी कई बार कह चुके हैं, लेकिन उनकी सड़क पर जलभराव की समस्या का कोई समाधान नहीं निकला है।

हाईवे पर जलभराव के कारण दुर्घटना होने का अंदेशा रहता है और दुकानदारों की ग्राहक न आने के कारण दुकानदारी खराब हो रही है। शहर में कोर्ट कॉम्पलेक्स के पास बीएमसी को जाते मार्ग पर भी ऐसे ही हालात हैं। वहां पर भी दुकानों के आगे जलभराव हो गय़ा है।

शहर में कई जगह दुकानदारों ने अपनी पब्लिसिटी के लिए बनाई गई ट्रेंडी को सड़कों के बीच पानी में ले जाकर रख दिया है, ताकि आते-जाते वाहनों के कारण उनकी दुकानों तक पानी के छीटें न पहुंच सकें। लोगों को बिजली कट की समस्या का भी सामना करना पड़ रहा है।

बारिश होने से बेशक गर्मी से राहत मिली है, लेकिन चिपचिपी बढ़ गई है। घरों में बिजली गुल होने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गर्मी में तो बिजली का मांग बढ़ती ही है, लेकिन बारिश में चिपचिपी गर्मी के कारण मांग ज्यादा बढ़ जाती है। गर्मी में तो कूलर से भी काम चल जाता है।

चिपचिपी गर्मी से लोगों को एसी की ड्राई हवा से ही राहत मिलती है। पिछली रात बारिश होने के चलते शहर में आसपास के क्षेत्रों में कट लगे। लोगों के एसी रात में बिजली गुल होने के कारण कई बार बंद हुए। लोगों ने अव्यवस्थाओं से निजात दिलाने की मांग नगर निगम से की है।

खबरें और भी हैं...